वर्तमान शैक्षिक सत्र शून्य करने को भाजपा नेता में भेजा पीएम मोदी को पत्र

वर्तमान शैक्षिक सत्र शून्य करने को भाजपा नेता में भेजा पीएम मोदी को पत्र
वर्तमान शैक्षिक सत्र शून्य करने को भाजपा नेता में भेजा पीएम मोदी को पत्र

बलिया, 25 जुलाई (हि. स.)। कोविड-19 के वैश्विक संकट को देखते हुए वर्तमान शैक्षिक सत्र 2020-21 को शून्य घोषित करने की मांग पीएम मोदी से की गई है। इसके लिए जिला सतर्कता एवं अनुश्रवण समिति के सदस्य सुरजीत सिंह परमार ने प्रधानमंत्री मोदी को पत्र भेजा है। भारतीय जनता पार्टी के पूर्व जिला महामंत्री सुरजीत सिंह परमार ने देश के प्रधानमंत्री को संबोधित अपने पत्र में कहा है कि वर्तमान शैक्षिक सत्र 2020-21 का प्रारंभ ही कोरोना के संकट काल में हुआ। लगभग चार महीने बीतने के बाद भी यह संकट और भी बढ़ता जा रहा है। शैक्षिक संस्थानों के खुलने की अभी दूर-दूर तक कोई संभावना नहीं दिख रही है। विभिन्न स्कूलों द्वारा ऑनलाइन शिक्षण का प्रयास किया जा रहा है, लेकिन अभी हमारे देश में दूरसंचार के नेटवर्क की स्थिति इतनी खराब है कि यह प्रयास सम्भव नहीं हो सकता। इस बीच पूरे देश में लॉकडाउन के कारण सारे आर्थिक कारोबार बंद हैं। उन्होंने कहा है कि आम जनता किसी तरह से अपने परिवार के भरण पोषण और जीवन रक्षा में परेशान है। जबकि स्कूलों द्वारा फीस के लिए लगातार दबाव बनाया जा रहा है। ऐसी स्थिति में विद्यार्थी और अभिभावक अपने भविष्य को लेकर चिंतित हैं।कहा कि ऑनलाइन शिक्षण अभी हमारे देश में अव्यवहारिक है। फिलहाल प्रत्यक्ष क्लासरूम शिक्षण का कोई विकल्प नहीं है। श्री सिंह ने प्रधानमंत्री से मांग किया है कि कोरोना से उपजीं विषम परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए वर्तमान शैक्षिक सत्र को शून्य घोषित करते हुए स्कूलों द्वारा फीस वसूली को बंद कराया जाय। हिन्दुस्थान समाचार/पंकज/दीपक-hindusthansamachar.in

अन्य खबरें

No stories found.