Mathura: Death of a captive teenager in state juvenile communication home
Mathura: Death of a captive teenager in state juvenile communication home
उत्तर-प्रदेश

मथुरा : राजकीय किशोर संप्रेक्षण गृह में बंदी किशोर की मौत

news

मथुरा, 14 जनवरी (हि.स.)। राजकीय किशोर सम्प्रेक्षण गृह में रह रहे एक किशोर जिला अस्पताल में उपचार के दौरान बीतीरात मौत हो गई। किशोर डकैती और घातक हमले के केस में सम्प्रेक्षण गृह में पुलिस द्वारा लाया गया था। वह लंबे समय से अस्थमा की बीमारी थी। 17 वर्षीय कपिल पुत्र मनवीर सिंह निवासी नगला हीरा थाना सादाबाद जिला हाथरस को तीन महीने पहले डकैती, घातक हमला, और आपराधिक षडयंत्र के केस में पुलिस द्वारा गिरफ्तार किया गया था। नाबालिग होने के कारण उसे मथुरा के राजकीय किशोर सम्प्रेक्षण गृह में लाया गया। पिछले तीन माह से यह सम्प्रेक्षण में रह रहा था। राजकीय किशोर सम्प्रेक्षण गृह के अधीक्षक हरीश चंद्र वर्मा के अनुसार किशोर 3 महीने पहले यहां लाया गया था, जिसे सांस की बीमारी थी। जब से यह किशोर यहां लाया गया तभी से ही इसकी तबीयत खराब चल रही थी। कई बार किशोर का उपचार जिला अस्पताल में कराया गया। हरीश चंद्र वर्मा ने बताया कि किशोर को अस्थमा था। यह 7 नवंबर 2020 को हमारी संस्था में दाखिल था। किशोर न्याय बोर्ड हाथरस के प्रधान मजिस्ट्रेट के आदेश पर उसका उपचार चल रहा था। बुधवार दोपहर को भी इसकी तबीयत खराब हुई थी। उसे अस्पताल उपचार के लिए भेजा गया था। डॉक्टरों ने चेकअप कर इसे वापस भेज दिया था। बीती रात को एक बार फिर से इसकी तबीयत खराब हुई, उसे पुनः उपचार के लिए अस्पताल भेजा गया। जहां इसकी उपचार के दौरान मौत हो गई। जबकि मृतक के परिजनों ने राजकीय किशोर सम्प्रेक्षण गृह पर लापरवाही का आरोप लगाया है, मृतक के भाई नरेन्द्र ने बताया कि उसका ठीक से इलाज नहीं कराया गया था। जिसके चलते उसकी मौत हुई है। हिन्दुस्थान समाचार/महेश-hindusthansamachar.in