मंगलवार को दिखे भक्ति के कई रंग, कर्फ्यू हटने पर बढ़़ी मन्दिरों में भीड़

मंगलवार को दिखे भक्ति के कई रंग, कर्फ्यू हटने पर बढ़़ी मन्दिरों में भीड़
many-colors-of-devotion-were-seen-on-tuesday-crowd-in-temples-increased-after-curfew-was-lifted

लखनऊ, 08 जून (हि.स.)। ज्येष्ठ माह के दूसरे मंगलवार को लखनऊ में भक्ति के कई रंग दिखाई दिए। कर्फ्यू हटने के बाद मंदिरों में अचानक से भीड़ बढ़ गई। सुबह से शाम तक शहर के हनुमान मन्दिरों में शहरवासियों का आना-जाना लगा रहा। हजरतगंज चौराहे के निकट हनुमान मंदिर में मुलायम सिंह यादव की बहू अपर्णा यादव भी पहुँची। हनुमान सेतु के प्राचीन मंदिर में आस्थावानों में उत्साह दिखायी पड़ा और इसमें कोविड कर्फ्यू के समाप्त होने का व्यापक असर दिखा। मंदिर के बाहर माला-फूल के दुकानदारों के चेहरों पर भी रंगत लौट आई। लोगों में उत्साह इस कदर था कि कुछ समय बाद ही माला-फूल के दुकानदारों को दोबारा गट्ठर मंगवाना पड़ा। दूसरे मंगलवार को वैश्विक महामारी कोरोना के संकट से मुक्ति के लिए अटल बिहारी मेमोरियल फाउंडेशन ने गांधी भवन में सुंदरकांड के पाठ का आयोजन किया। पाठ करने के लिए संगीत समिति के लोगों को आमंत्रित किया गया था। उनके द्वारा सुंदर संगीतमय पाठ का प्रस्तुतीकरण किया गया। फाउंडेशन की तरफ से निरंतर चल रहे भंडारा को आज भी जारी रखा गया। इस दौरान जरूरतमंद लोगों की कतार भी लगी दिखाई दी। आलमबाग और राजाजीपुरम क्षेत्र में दूसरे मंगल को मनाते हुए व्यापारी बंधुओं ने प्रसाद वितरण कराया और कोविड कर्फ्यू हटा लेने के लिए प्रदेश सरकार को धन्यवाद दिया। विकास नगर के अति प्राचीन गुलाचीन हनुमान मंदिर पर सुबह से ही भक्तों की भीड़ लगी रही। कुछ ऐसा ही दृश्य डंडइया के हनुमान मंदिर पर भी दिखाई पड़ा। हिन्दुस्थान समाचार/शरद/विद्या कान्त