उप्र के 74 जिलों में 200 से कम हुए कोरोना के एक्टिव केस

उप्र के 74 जिलों में 200 से कम हुए कोरोना के एक्टिव केस
less-than-200-active-cases-of-corona-in-74-districts-of-up

-प्रदेश में आए महज 251 नए मामले, 561 लोग स्वस्थ होकर हुए डिस्चार्ज -यूपी मॉडल से प्रदेश में संक्रमण की दर में तेजी से दर्ज की जा रही गिरावट लखनऊ, 20 जून (हि.स.)। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के यूपी मॉडल से उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमण की दर में तेजी से गिरावट दर्ज की गई है। प्रदेश में तेजी से घटते कोरोना संक्रमण के मामले ट्रिपल टी, टीकाकरण और उचित रणनीति का सकारात्मक परिणाम है। प्रदेश में योगी सरकार द्वारा समय पर लिए गए सफल निर्णय से आज प्रदेश के 74 जिलों में 200 से कम एक्टिव केस दर्ज किए गए हैं। वहीं, 55 जिले ऐसे हैं, जहां कुल एक्टिव केस डबल डिजिट में ही दर्ज किए जा रहे हैं। प्रदेश के अब ज्यादातर जिलों में संक्रमण के नए मामले नहीं मिल रहे, तो कई जिले ऐसे हैं जहां नए केस इकाई में आ रहे हैं। पिछले 24 घंटों में प्रदेश में महज 251 कोरोना के नए मामले सामने आए। इस अवधि में 561 लोग स्वस्थ होकर डिस्चार्ज किए गए। प्रदेश में पिछले 24 घंटों में दो लाख 63 हजार 769 सैम्पल की जांच की गई। अब तक पांच करोड़ 52 लाख 64 हजार 533 कोविड की जांच की जा चुकी हैं। प्रदेश की टेस्ट पॉजिटिविटी दर लगातार एक फीसदी से कम बनी हुई है। प्रदेश में पॉजिटिविटी दर 0.1 प्रतिशत और रिकवरी रेट 98.4 प्रतिशत दर्ज किया गया जो प्रदेशवासियों के लिए एक सुखद खबर है। सोमवार से कोरोना कर्फ्यू में बढ़ेगी छूट प्रदेश में कोरोना के मामलों में गिरावट होने और लगातन संक्रमण के प्रसार में कमी होने पर सोमवार से योगी सरकार कोरोना कर्फ्यू में छूट देने जा रही है। इस विषय में शासन द्वारा तय गाइडलाइन का सभी जिलों में कड़ाई से अनुपालन हो इसके लिए मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिए हैं। स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने तीसरी लहर के लिए तैयार की रिपोर्ट राज्य सकार के एक प्रवक्ता ने बताया कि प्रदेश स्तरीय स्वास्थ्य विशेषज्ञ परामर्श समिति ने कोरोना की तीसरी लहर के मद्देनजर अध्ययन रिपोर्ट तैयार कर ली है। विशेषज्ञों की रिपोर्ट को ध्यान में रखते हुए प्रदेश के सभी जिलों में आवश्यक तैयारियां करने के निर्देश सीएम ने दिए। उन्होंने अधिकारियों को आदेश दिए कि तीसरी लहर की आशंका के अनुसार प्रदेशवासियों की सुरक्षा को सुनिश्चित करने के लिए सभी ठोस कदम समय से उठाए। पीडियाट्रिक और नियोनेटल आईसीयू की हो रही तेजी से स्थापना प्रवक्ता ने बताया कि प्रदेश के सभी मेडिकल कॉलेजों में पीडियाट्रिक आईसीयू और नियोनेटल आईसीयू की स्थापना की जा रही है। बीते दिन सीएम के निर्देशानुसार बेड की संख्या में विस्तार करते हुए 100 बेड और बढ़ाए गए हैं। प्रत्येक मेडिकल कॉलेजों में न्यूनतम 100 बेड बढ़ाने की कार्यवाही की जा रही है। जिला अस्पतालों और सीएचसी को भी इसी तर्ज पर सुविधायुक्त किया जा रहा है। सीएम ने पीकू और नीकू स्थापना की यह कार्यवाही इसी माह पूर्ण करने के आदेश देते हुए चिकित्सा शिक्षा मंत्री को इस संबंध में निरीक्षण कर अगले दो दिवस के भीतर अपनी आकलन रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिए हैं। हिन्दुस्थान समाचार/ पीएन द्विवेदी

अन्य खबरें

No stories found.