विधिक सेवा प्राधिकरण के पैनल अधिवक्ताओं ने किया निरीक्षण
विधिक सेवा प्राधिकरण के पैनल अधिवक्ताओं ने किया निरीक्षण
उत्तर-प्रदेश

विधिक सेवा प्राधिकरण के पैनल अधिवक्ताओं ने किया निरीक्षण

news

क्वॉरेंटाइन सेंटर एवं आइसोलेशन सेंटर में पाई गई अव्यवस्थाएं कासगंज 24 जुलाई (हि.स.) जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के निर्देश पर शुक्रवार की दोपहर पैनल अधिवक्ताओं ने कोविड-19 के लिए बनाए गए, अज्ञातवास केंद्रों एवं जिला चिकित्सालय स्थित आइसोलेशन वार्ड का आकस्मिक निरीक्षण किया है। यहां रोगियों से बातचीत की है। क्वारंटाइन सेंटरों में साफ-सफाई, खानपान की व्यवस्था उचित नहीं है। जबकि आइसोलेशन वार्ड में परिस्थितियों में बीते दिनों से सुधार हुआ है। विगत दिनों में लगातार सोशल मीडिया पर आइसोलेशन वार्ड एवं क्वारंटाइन सेंटर में मौजूद लोगों ने वीडियो वायरल किए। इन के माध्यम से जिले के अधिकारियों को सैंटरो में उपलब्ध हो रही असुविधाओं के बारे में जानकारी दी। दो दिन पूर्व इसे लेकर अधिवक्ताओं एवं सीएमएस डॉ राजकिशोर के बीच जमकर कहासुनी हुई। व्यवस्थाएं दुरुस्त कराने का सीएमओ डॉक्टर प्रतिमा श्रीवास्तव ने आश्वासन दिया। इसी परिपेक्ष में शुक्रवार की दोपहर जिला विधिक प्राधिकरण के पैनल अधिवक्ताओं ने मौके पर पहुंचकर निरीक्षण किया। वरिष्ठ अधिवक्ता सत्येंद्र पाल सिंह बैश ने जानकारी देते हुए बताया कि सबसे पहले उनके द्वारा वीके जैन कॉलेज में क्वॉरेंटाइन हुए लोगों से बातचीत की गई। यहां पेयजल की उचित व्यवस्था ना होने, खाने की गुणवत्ता दुरुस्त न होने के संबंध में रोगियों ने जानकारी दी है।रोगियों बताया कि कच्ची रोटियां प्राप्त हो रही हैं। सात दिन से लगातार एक ही प्रकार का खाना दिया जा रहा है। साफ सफाई के बारे में भी यहां शिकायत की गई। क्वॉरेंटाइन किए गए व्यक्तियों को स्वास्थ्य विभाग ने मास्क भी उपलब्ध नहीं कराए हैं । टीम में शामिल अधिवक्ता केशव मिश्रा ने बताया कि कलावती सेंटर में केवल खाने की गुणवत्ता को लेकर शिकायत प्राप्त हुई है। पैनल अधिवक्ता अंजुम राहत ने बताया कि जिला अस्पताल स्थित आइसोलेशन वार्ड का भी निरीक्षण किया गया जिसमें सीएमएस राजकिशोर द्वारा 20 रोगियों को डिस्चार्ज करने एवं अन्य सभी आपूर्ति सुचारू रूप से सही होने के संबंध में जानकारी उपलब्ध कराई गई है। यहां पर भी खाने की गुणवत्ता असंतोषजनक पाई गई है। इस मौके पर पैनल अधिवक्ता धर्मेश मौर्य भी मौजूद रहे हैं। अधिवक्ताओं ने निरीक्षण की रिपोर्ट जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की सचिव चेतना सिंह को आवश्यक कार्रवाई हेतु प्रेषित की है। हिन्दुस्थान समाचार/ पुष्पेंद्र/मोहित-hindusthansamachar.in