keep-govardhan-parvat-government-should-not-sell-it-anywhere---priyanka-gandhi
keep-govardhan-parvat-government-should-not-sell-it-anywhere---priyanka-gandhi
उत्तर-प्रदेश

गोवर्धन पर्वत को बचाकर रखना, कहीं बेच न दे सरकार - प्रियंका गांधी

news

- मथुरा में कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका महापंचायत में जमकर बरसीं मथुरा, 23 फरवरी (हि.स.)। कांग्रेस राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा मंगलवार को भाजपा, मोदी व योगी सरकार पर जमकर बरसीं। शाम सौंख रोड़ पालीखेड़ा में किसान महापंचायत को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि आप लोग गोवर्धन पर्वत को संभाल के रखना, कहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गिरिराज पर्वत को ही न बेच दें। दोपहर बाद मथुरा पहुंची श्रीमती वाड्रा ने कृषि कानून विरोधी किसान आंदोलन का समर्थन करते हुए कहा कि 90 दिनों से देश की राजधानी के बॉर्डर पर किसान अपने अधिकारों की लड़ाई लड़ रहे हैं। इस किसान आन्दोलन के दौरान 215 किसानों की मृत्यु हुई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने शासनकाल में दुनिया के हर कोने तक पहुंचे, लेकिन वे बॉर्डर पर किसानों तक नहीं पहुंच पाए। किसानों की समस्याओं को सुनने के लिए उनके पास समय नहीं है। खरबपतियों के लिए बनाए गए कृषि कानून प्रियंका वाड्रा ने कहा कि मोदी सरकार द्वारा बनाए गए तीनों कानून किसानों को बर्बाद करने वाले हैं। कृषि कानून में पहला कानून जमाखोरी की छूट देता है। उन्होंने कहा कि यह कृषि कानून देश के किसी किसान ने नहीं बनाए। नोटों की खेती करने वालों ने बनाया है। खरबपतियों के लिए बनाए गए हैं। वर्ष 1955 में देश के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू ने देश में जमाखोरी को रोकने के लिए कानून बनाया था। वह आज तक लागू है। कांग्रेस सरकार आने पर होंगेे तीनों कृषि कानून रद़्द उन्होंने एलान किया कि कांग्रेस किसानों के साथ खड़ी है। जब तक किसानों का उनके अधिकारियों के लिए संघर्ष जारी रहेगा तब तक कांग्रेस भी उनके साथ है। जैसे ही हमारी सरकार आएगी, सबसे पहले इन कानूनों को समाप्त करेगी। बृज की गोशालाओं का बुरा हाल, कहां गए 200 करोड़ रुपये प्रियंका वाड्रा ने कहा कि ब्रज गोशालाओं का केन्द्र है, लेकिन गोशालाओं का बुरा है। राधाकुंड की गोशालाओं का बुरा हाल है। किसान पशुओं से अपनी खेती बचाने के लिए रातभर जागता रहता है। मथुरा के साथ-साथ हाथरस, बुंदेलखण्ड में भी गोशालाएं बदहाल हैं। उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी से पूछा कि गायों के लिए सरकार ने 200 करोड़ आवंटित किए हैं। आखिर गोशालाओं के लिए आया पैसे कहां गए। किसानों के लिए रखा दो मिनट का मौन संबोधन के समापन पर प्रियंका गांधी वाड्रा ने किसान आन्दोलन के दौरान मरे किसानों की आत्मा की शांति के लिए दो मिनट का मौन धारण किया। मथुरा में किसान पंचायत के बाद वे ठाकुर बांके बिहारी मंदिर पहुंची। यहां उन्होंने मंदिर की देहरी का पूजन किया। इस मौके पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता प्रमोद तिवारी, राजीव शुक्ला, पूर्व केन्द्रीय मंत्री प्रदीप कुमार जैन, प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू, पूर्व विधायक प्रदीप माथुर, वरिष्ठ नेता महेश पाठक, सांसद दीपेन्द्र हुड्डा आदि मौजूद रहे। हिन्दुस्थान समाचार/महेश

AD
AD