कानपुर पुलिस ने ओमान में फंसी महिला की सकुशल कराई वतन वापसी

कानपुर पुलिस ने ओमान में फंसी महिला की सकुशल कराई वतन वापसी
kanpur-police-makes-woman-stranded-in-oman-come-back-safely

-दिल्ली पहुंचने पर एक टीम महिला को लेकर पंजाब लेकर हुई रवाना -नौकरी का प्रलोभन देकर विदेश भेजने वाले दो आरोपी भेजे जा चुके हैं जेल कानपुर, 07 मई (हि.स.)। महिलाओं को विदेश में अच्छी नौकरी का प्रलोभन देकर मानव तस्करी करने वाले प्रकरण में कानपुर पुलिस को एक और सफलता शुक्रवार को मिली। भारतीय दूतावास के सहयोग से ओमान में फंसी पंजाब की एक महिला की सकुशल वतन वापसी हो सकी। दिल्ली में महिला के एयरपोर्ट पर आने के बाद उसे नोएडा क्राइम ब्रांच कार्यालय लाकर पूंछतांछ की गई। इसके बाद एक टीम उसे गृह जनपद पंजाब पहुंचाने के लिए रवाना हो गई। कानपुर कमिश्नरेट पुलिस के सामने बीते दिनों विदेशों में नौकरी का प्रलोभन देकर महिलाओं की तस्करी किए जाने का मामला प्रकाश में आया था। प्रकरण सामने आते ही पुलिस आयुक्त असीम अरुण ने क्राइम ब्रांच के पुलिस उपायुक्त अपराध सलमान ताज हैदर को इसकी जांच सौंपते ही पीड़ित महिलाओं की वतन वापसी का मुश्किल टास्क दिया। पुलिस उपायुक्त अपराध ने प्रकरण में गहन जांच व साक्ष्य जुटाते हुए पहले तो इस तरह की कूटरचित साजिश रचने वाले मानव तस्कर मुजमिल और अतीक उर रहमान को गिरफ्तार कर लिया। उनसे पूंछतांछ में कई महिलाओं को विदेश भेजने का पता चला। दोनों को जेल भेज दिया गया और कानपुर पुलिस विदेशों में महिलाओं की सकुशल वापसी में जुट गई। पुलिस उपायुक्त अपराध सलमान तान हैदर ने बताया कि महिलाओं की वतन वापसी के लिए भारतीय दूतावास से सम्पर्क किया। उन्हें पीड़ित महिलाओं के नाम व अन्य जानकारियां देते हुए वापसी का प्रयास तेज किया। प्रकरण में दो महिलाएं पहले ही वतन वापसी कराई गई। इसके बाद अन्य को छुड़ाने की कोशिशें तेज की गई। शुक्रवार को भी ओमान में फंसी एक पंजाब के जालंधर की महिला को कानपुर पुलिस के प्रयासों से सकुशल दिल्ली लाया गया। पुलिस उपायुक्त अपराध ने बताया कि एयरपोर्ट पर आते ही महिला को रिसीव कर नोएडा लेकर आई, जहां क्राइम ब्रांच (कानपुर नगर) द्वारा बयान लिया गया। इस दौरान महिला ने विदेश में प्रताड़ित करने के साथ ही यातनाएं दिए जाने की बात बयॉ की। यहां पर कानपुर पुलिस ने कानूनी प्रक्रिया पूरी करने के बाद पीड़ित महिला को उसके गृह जनपद जालंधर, पंजाब छोड़ने के लिए एक टीम रवाना हो गई। पुलिस उपायुक्त अपराध ने बताया कि इस प्रकरण में विदेश मंत्रालय का अति सक्रिय योगदान रहा। प्रकरण में जितनी पीड़ित महिलाएं, जो सीधे कानपुर नगर पुलिस के सम्पर्क में आयी थी, उनमें अन्य जिले की महिलायें भी शामिल थी। उन महिलाओं के सम्बन्ध में उस जिले के सम्बधित अधिकारियों से सम्पर्क किया जा रहा है। पीड़ित महिलाओं को देश वापस लाने में कई कोर कसर नहीं छोड़ी जाएगी। वहीं, ऐसा करने वाले पूरे नेटवर्क को खंगालते हुए उन्हें पकड़कर सलाखों के पीछे भेजने की कार्यवाही की जाएगी। हिन्दुस्थान समाचार/मोहित/विद्या कान्त