jhansi-failure-due-to-lack-of-water-supply-in-different-areas-for-four-days
jhansi-failure-due-to-lack-of-water-supply-in-different-areas-for-four-days
उत्तर-प्रदेश

झांसी : चार दिनों से विभिन्न क्षेत्रों में जलापूर्ति न होने से हाहाकार

news

झांसी, 29 अप्रैल (हि.स.)। पिछले चार दिन से महानगर के विभिन्न क्षेत्रों में पेयजल संकट गहराया हुआ है। स्थानीय निवासियों में हाहाकार मचा है। आलम यह है कि जनप्रतिनिधियों से लेकर जल संस्थान के अधिकारी फोन उठाने से कतरा रहे हैं। विभागीय अधिकारियों द्वारा दो दिनों में जलापूर्ति सुचारू कराए जाने के दावे भी हवा-हवाई होने से लोगों में भारी आक्रोष व्याप्त है। बीते रविवार को पाइप लाइन में मरम्मत कार्य शुरू हुआ था, जिसे दुरुस्त करने के बाद मंगलवार को जलापूर्ति सुचारू कराए जाने का आश्वासन दिया गया था। लेकिन बुधवार को भी जलापूर्ति नहीं होने से भीषण गर्मी में महानगर के विभिन्न क्षेत्रवासियों को पानी के लिए खासी मशक्कत व परेशानियों का सामना करना पड़ा। लोग देर रात तक नलों में पानी आने का इंतजार करते नजर आए। गुरुवार को भी जलापूर्ति सुचारू नहीं होने पर हालात खराब हो गए। यदा कदा पानी का टैंकर पहुंच जाने पर लोग उस पर टूट पड़े। हैंडपंपों पर भी कुछ ऐसी ही स्थिति देखेने को मिली। वहीं, कहीं-कहीं लोग सड़कों पर अपने निजी बोरिंग से टंकियां भरकर लोगों की सेवा करते भी नजर आए। इन मोहल्लों में नहीं है पानी महानगर में तीन तरह से पेयजल की आपूर्ति होती है। एक तो माताटीला से, एक पहूंज नदी से और तीसरा ट्यूब बेल्स के द्वारा। माताटीला से आपूर्ति होने वाले मोहल्लों में पेयजल संकट गहराया है। इनमें सिविल लाइन का पाॅश इलाका, नई बस्ती, शहर, शिवाजी नगर, तालपुरा, खुशीपुरा, सागर गेट आदि जैसे दर्जनों मोहल्ले शामिल हैं। जहां पिछले चार दिनों से पानी नहीं आया है। ये है पेयजल न आने का कारण निर्माण कार्य के दौरान माताटीला से आने वाली बड़ी पाईप लाइन टूट गई थी। इसके चलते रविवार से उसको ठीक किए जाने का कार्य चल रहा है। इस कारण पेयजल आपूर्ति ठप पड़ी हुई है। दो दिन और लग सकते हैं पेयजल आपूर्ति सुचारु होने में इस संबंध में लोगों द्वारा शिकायत किए जाने पर कि कोई अधिकारी फोन नहीं उठा रहे हैं। जिलाधिकारी ने मैसेज के माध्यम से बताया कि पाईप लाइन मरम्मत किए जाने का कार्य चल रहा है। ठीक होने में दो दिन लग सकते हैं। हिन्दुस्थान समाचार/महेश