स्पेशल टास्क फ़ोर्स के कर्मियों को ऑपरेशन के साथ स्वयं को सुरक्षित रखने के निर्देश - एडीजी एसटीएफ

स्पेशल टास्क फ़ोर्स के कर्मियों को ऑपरेशन के साथ स्वयं को सुरक्षित रखने के निर्देश - एडीजी एसटीएफ
instructions-to-special-task-force-personnel-to-keep-themselves-safe-with-the-operation---adg-stf

लखनऊ, 05 मई(हि.स.)। उत्तर प्रदेश स्पेशल टास्क फोर्स के अपर पुलिस महानिदेशक (एडीजी एसटीएफ) अमिताभ यश ने कहा कि कोविड-19 के संक्रमण से एसटीएफ में कार्यरत कर्मियों के बचाव के लिए विशेष व्यवस्था कराई गई है। एसटीएफ कर्मियों को ऑपरेशन करने के साथ स्वयं को सुरक्षित रखने के निर्देश भी दिए गए हैं। एडीजी एसटीएफ अमिताभ यश ने हिन्दुस्थान समाचार से कहा कि उत्तर प्रदेश में कोविड संक्रमण के समय भी अपराध हो रहे हैं और इस पर यूपी एसटीएफ की नजर है। अपराध नियंत्रण के लिए एसटीएफ कर्मियों द्वारा ऑपरेशन किए जा रहे हैं और इस दौरान एक जगह से दूसरी जगह टीम को आना जाना पड़ता है। उन्होंने कहा कि ऑपरेशन के लिए निकली टीम के सदस्यों को लखनऊ आने के बाद आइसोलेट किया जाता है। आइसोलेट के लिए 25 बेड का ट्रांसिट हॉस्टल बनाया गया है, जहां पर एसटीएफ टीम को आइसोलेट करने के बाद ही उन्हें दूसरे ऑपरेशन की तैयारियों में लगाते हैं। कहा कि मुख्यालय छोड़ने के बाद टीम के सदस्यों को ऑपरेशन के दौरान पीपीई किट पहनने का निर्देश दिया गया है। इस महामारी के समय में भी यूपी एसटीएफ पहले की तरह ही काम कर रही है और अपराधी गिरोहों पर नकेल कसी हुई है। उन्होंने दो टूक कहा कि उत्तर प्रदेश में संगठित अपराध और उसके बदलते स्वरूप को भलीभांति समझते हुए यूपी एसटीएफ ने काम करने के तरीके में कुछ बदलाव किया है, जो सफल है। जिससे प्रभावी ढंग से गिरोहों के बढ़ते कदम को रोका जा रहा है। हिन्दुस्थान समाचार/शरद