22 तरह की संचारी बीमारियों के लिए लॉन्च होगा आईएचआईपी, होगी लाइव मोनिटरिंग

22 तरह की संचारी बीमारियों के लिए लॉन्च होगा आईएचआईपी, होगी लाइव मोनिटरिंग
ihip-will-be-launched-for-22-types-of-communicable-diseases-will-be-live-monitoring

- दो चरणों में शहरी और ग्रामीण मेडिकल स्टाफ को प्रशिक्षण झांसी, 24 मार्च (हि.स.)। संचारी रोगों को रियल टाइम मोनिटरिंग करने के लिए आगामी एक अप्रैल को देश स्तर पर इंटीग्रेटेड हैल्थ इन्फॉर्मेशन प्लैटफार्म (आईएचआईपी) लॉन्च किया जाएगा। यह जानकारी मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. जी के निगम द्वारा जिला मुख्य चिकित्सा अधिकारी कार्यालय में बुधवार को आयोजित प्रशिक्षण में दी गयी। उन्होंने बताया कि इसके लिए 22 मार्च को ग्रामीण स्तर के चिकित्सा अधिकारी, फार्मसिस्ट, एवं लैब टेक्नीशियन को प्रशिक्षण दिया जा चुका। आज शहरी क्षेत्र के चिकित्सा अधिकारी, फार्मसिस्ट, एवं लैब टेक्नीशियन को प्रशिक्षण दिया गया। जिला सर्विलेंस अधिकारी डा. एसके कुलश्रेस्ठ ने आयोजित प्रशिक्षण में बताया कि अभी तक इंटीग्रेटेड डिसीज सर्विलेंस प्रोजेक्ट (आईडीएसपी) में हफ्ते में डाटा दर्ज किया जाता था। लेकिन अब आईएचआईपी के माध्यम से लाइव मोनिटरिंग में मदद मिलेगी। इसके लिए शहर व ब्लॉक स्तर पर एएनएम और डॉक्टर, चिकित्सा अधिकारियों को प्रशिक्षण दिया जा चुका है। इसके लॉन्च होने के बाद संचारी रोग समस्या से ग्रसित कोई भी मरीज ओपीडी में आता है तो उसकी डिटेलिंग तुरंत इस प्लैटफार्म पर दर्ज की जाएगी। इसके अलावा जांच के लिए भी आए मरीजों की जानकारी इस प्लैटफार्म पर लैब टेक्नीशियन के द्वारा दर्ज की जाएगी। आईएचआईपी के तहत आएंगी 22 बीमारियां महामारी रोग विशेषज्ञ डा. अनुराधा ने बताया कि आईएचआईपी के तहत डायरिया, डेंगू, मलेरिया, टाइफाइड, खसरा, रूबेला, चिकनपोक्स, अननॉन फीवर, श्वसन संबंधी सभी बीमारी आदि की लाइव रिपोर्टिंग दर्ज की जाएगी। जहां कहीं भी संचारी रोग संबन्धित आउटब्रेक (प्रकोप) होता है उसकी जानकारी भी यहां दर्ज की जाएगी, साथ ही क्षेत्र भ्रमण के दौरान एएनएम को कोई संचारी रोगी मिलता है तो उसकी जानकारी भी यहां दर्ज होगी। प्रशिक्षण में डबल्यूएचओ से एसएमओ डा. जूही, डीडीएम आदित्य और स्वास्थ्य शिक्षा अधिकारी डा. विजयश्री शुक्ल मौजूद रहीं। हिन्दुस्थान समाचार/महेश

अन्य खबरें

No stories found.