इंसानियत न भूले नर्सिंग होम, मरीज को भर्ती कर इलाज करें : सांसद

इंसानियत न भूले नर्सिंग होम, मरीज को भर्ती कर इलाज करें : सांसद
humanity-should-not-forget-nursing-home-recruit-patient-and-treat-mp

- कहा,रेमडेसिविर रामबाण नहीं, अन्य विकल्प को अपनाएं झांसी,29 अप्रैल (हि.स.)। रेमडेसिविर इंजैक्शन रामबाण नहीं है। इसकी जानकारी लोगों को अवश्य दी जाए। सर्वाधिक जरूरत पड़ने पर ही डॉक्टर इसे रिकमण्ड करें। ऑक्सीजन गैस की उपलब्धता नर्सिंग होम में बनी रहे उसके लिए नर्सिंग होम अतिरिक्त गैस सिलेंडर क्रय कर लें ताकि समय पर गैस उपलब्ध रहे। नर्सिंग होम की सुरक्षा सर्वोपरी, उपद्रव होने की संभावना की तत्काल सूचना दें, पुलिस बल उपलब्ध कराया जायेगा। यह विचार सांसद झांसी-ललितपुर संसदीय क्षेत्र अनुराग शर्मा ने विकास भवन सभागार में नर्सिंग होम संचालक व चिकित्सकों से कोविड-19 के बढ़ते संक्रमण से मरीजों की संख्या बढ़ने और उन्हें समुचित उपचार दिलाए जाने के संबंध में आयोजित बैठक की अध्यक्षता करते हुए व्यक्त किए। उन्होंने अनुरोध करते हुए कहा कि नर्सींग होम संचालक व चिकित्सक इंसानियत न भूले, जो भी मरीज आए, उन्हें एडमिट करते हुए इलाज करें, उन्हें भगाएं नहीं। सांसद ने कहा कि नर्सिंग होम पॉजिटिव अप्रोच के साथ कार्य करें। विकास भवन में आयोजित बैठक में जिलाधिकारी आन्द्रा वामसी ने कहा कि नर्सिंगहोम आने वाले तीमारदारों को वैक्सीनेशन कराए जाने के लिए प्रेरित करें। उन्होंने कहा कि मरीजों को भयभीत न होने दें, उसका आत्मबल बढ़ाएं, उसे कमजोर न होने दें। आप एक सकारात्मक सोच के साथ कोविड-19 संक्रमित मरीज का पुख्ता इलाज करें। उन्होंने सुझाव दिया कि आप ही रणनीति तैयार करें कि किसे और कब रेमडेसिविर इंजैक्शन दिया जाना है। जिलाधिकारी ने ऐसे नर्सिग होम संचालकों को आड़े हाथ लेते हुए कहा कि अभी भी अंतिम समय में मरीज को मेडीकल कालेज भेजा जा रहा है। यह बेहद चिंताजनक है, इसे सख्ती से रोका जाए। उन्होंने कहा कि आप बेहतर इलाज करें, इस तरह की घटनाओं पर कार्यवाही की जाएगी। उन्होंने नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि अभी भी एक दर्जन से अधिक प्राइवेट नर्सिंग होम हैं, जहां मरीज भर्ती नहीं किए जा रहे हैं। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि संक्रमित मरीज को भर्ती करें अन्यथा कार्रवाई होगी। बैठक में जिलाधिकारी ने कहा कि नर्सिंगहोम वेंटिलेटर खरीदने के लिए आगे आएं। उन्होंने दानदाताओं से भी आवाहन किया है कि महामारी में सहयोग करें। उन्होंने जल्द ही प्राइवेट नर्सिंग होम में सफाई व्यवस्था के लिए जनरेटर के माध्यम से स्वीपर उपलब्ध करायें जाएगे ताकि वहां साफ-सफाई बेहतर रहे। बैठक में विधायक मऊरानीपुर बिहारी लाल आर्य ने प्रतिभाग करते हुए कहा कि चिकित्सक लोगों को जागरूक करें कि शुरुआती दौर में ही डॉक्टर से इलाज कराएं, स्वयं घर पर इलाज न करें ताकि जल्द स्वस्थ हो सके। इस मौके पर सीडीओ शैलेष कुमार, नगर आयुक्त अवनीश कुमार राय, एडीएम संजय पांडेय, प्रधानाचार्य डॉ. एन एस सेंगर, डॉ अंशुल जैन, प्रभारी सीएमओ डॉक्टर सुधीर कुलश्रेष्ठ, नगर मजिस्ट्रेट सलिल पटेल, डा. अन्नु निगम, डॉक्टर नीरज सहित नर्सिगहोम के संचालक व चिकित्सक उपस्थित रहे। हिन्दुस्थान समाचार/महेश