कामतानाथ मंदिर के पुजारी हरिश्चन्द्र मिश्र की कोरोना से मौत,धर्म नगरी चित्रकूट में दौड़ी शोक की लहर

कामतानाथ मंदिर के पुजारी हरिश्चन्द्र मिश्र की कोरोना से मौत,धर्म नगरी चित्रकूट में दौड़ी शोक की लहर
harishchandra-mishra-priest-of-kamatanath-temple-dies-of-corona-a-wave-of-mourning-ran-in-the-religious-town-chitrakoot

चित्रकूट,26 अप्रैल (हि. स.)। भगवान श्रीराम की तपोभूमि चित्रकूट के आराध्य कामतानाथ मंदिर प्राचीन मुखार बिंद के पुजारी हरिश्चन्द्र मिश्र की कोरोना संक्रमण के चलते मौत हो गई।आपको बता दे कि पुजारी की तीन दिनों पूर्व कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट आयी थी।परिजनों द्वारा इलाज के लिए जानकीकुंड चिकित्सालय चित्रकूट में भर्ती कराया गया था।सोमवार देर शाम स्थिति गंभीर होने पर डॉक्टरों द्वारा मेडिकल कालेज बाँदा के लिए रेफर किया गया।एम्बुलेंस से बाँदा ले जाते समय रास्ते मे ऑक्सीजन खत्म हो जाने के कारण मेडिकल कालेज पहुंचने से पहले ही पुजारी की मौत हो गई।पुजारी की कोरोना की चपेट में आने से हुई मौत से धर्म नगरी में शोक की लहर दौड़ गई है। चित्रकूट के आराध्य भगवान कामतानाथ मंदिर प्राचीन मुखार बिंद मंदिर के पुजारी हरिश्चंद्र मिश्रा (62) पुत्र श्रीकांत मिश्र निवासी चित्रकूट पिछले एक सप्ताह से बुखार, खासी-जुखाम से पीड़ित थे।तीन दिन पूर्व परिजनों द्वारा पुजारी की कोविड़-19 की जांच कराई गई।जिसमें उन्हें कोरोना संक्रमित पाया गया था।जिसके बाद परिजनों द्वारा सद्गुरु सेवा संघ ट्रस्ट द्वारा संचालित जानकीकुंड चिकित्सालय में भर्ती कराया गया था।सोमवार को पुजारी की स्थिति गंभीर हो जाने पर डॉक्टरों द्वारा उन्हें मेडिकल कालेज बाँदा के लिए रेफर कर दिया। पुजारी को एम्बुलेंस से मेडिकल कालेज ले जाते समय रास्ते मे ऑक्सीजन खत्म हो जाने के कारण बाँदा पहुचने से पहले ही पुजारी जी की मौत हो गई।चित्रकूट के प्राचीन कामतानाथ मंदिर के पुजारी हरिश्चन्द्र मिश्र की कोरोना से हुई मौत से धर्म नगरी में शोक की लहर दौड़ गई है।महंत सत्य प्रकाश दास महाराज,दीन दयाल शोध संस्थान के संगठन सचिव अभय महाजन,सद्गुरु सेवा संघ के ट्रस्टी डॉ बी के जैन,सामाजिक कार्यकर्ता पंकज अग्रवाल, ओम केशरवानी आदि ने दुख प्रकट करते हुए मृत आत्मा को श्रद्धांजलि दी है। हिन्दुस्थान समाचार/रतन