पत्रकारों के साथ आम जनता भी नहीं सुरक्षित, भाजपा सरकार में फैला है गुण्डाराज
पत्रकारों के साथ आम जनता भी नहीं सुरक्षित, भाजपा सरकार में फैला है गुण्डाराज
उत्तर-प्रदेश

पत्रकारों के साथ आम जनता भी नहीं सुरक्षित, भाजपा सरकार में फैला है गुण्डाराज

news

झांसी, 23 जुलाई (हि.स.)। उप्र की सीमा से सटे हुए मप्र के जिला निवाड़ी में हुई एक पत्रकार की हत्या के मामले से आहत समाजवादी पार्टी के जिलाध्यक्ष ने भाजपा सरकार में चारों ओर गुण्डाराज का बोलबाला बता डाला। उन्होंने कहा कि प्रदेश में तो ठोको नीति चल ही रही है। इसका असर प्रदेश के पड़ोसी राज्य पर भी दिख रहा है। वहां भी ऐसी ही गतिविधियां हैं। उन्होंने सरकार से मृत पत्रकार के परिजनों के लिए 25 लाख की आर्थिक सहायता व परिवार के एक सदस्य को नौकरी दिए जाने की भी मांग कर डाली। हाल ही में समाजवादी पार्टी की जिले की कमान संभालने वाले सपा जिलाध्यक्ष महेश कश्यप ने निवाड़ी के गांव पुतरी खेरा में बीते रोज पत्रकार की हत्या की भर्तसना की। उन्होंने कहा कि प्रदेश में जंगलराज चल रहा है। चारों ओर बेखौफ बदमाश लोगों पर कहर बरपा रहे हैं। इसका उदाहरण गाजियाबाद में देखने को मिला। जहां अपनी भतीजी को बचाने वाले पत्रकार जोशी को दिनदहाड़े गोली मार दी गई। जबकि इस घटना की शिकायत पिछले डेढ़ वर्ष से परिजनों द्वारा लगातार पुलिस से की जा रही थी। वहीं बीते रोज निवाड़ी में जो घटना घटी उसकी शिकायत भी पुलिस को मृतक पत्रकार सुनील तिवारी ने पहले ही दे रखी थी। इस पर कोई एक्शन नहीं लिया गया। उन्होंने कहा कि दोनों हत्याओं की जिम्मेदारी प्रदेशों की सरकार पर जाती है। यदि समय रहते शिकायत पर कार्रवाई ठीक से हो जाती तो दोनों पत्रकार जिंदा होते और अपराधी जेल में पड़े दिखाई देते। लेकिन प्रदेश में तो ठोको नीति चलाई जा रही है। प्रदेश का असर पिछले एक माह से भाजपा की सरकार वाले पड़ोसी प्रदेश पर भी स्पष्ट दिखाई दे रहा है। उन्होंने कहा कि मृतक पत्रकार सुनील तिवारी की हत्या का पश्चाताप करते हुए पड़ोसी प्रदेश की सरकार को चाहिए कि परिजनों को 25 लाख की आर्थिक सहायता प्रदान करते हुए उनकी पत्नि या किसी और को सरकारी नौकरी भी दी जाए। तभी परिवार का भरण पोषण हो सकेगा। हिन्दुस्थान समाचार/महेश/मोहित-hindusthansamachar.in