gst-team-raids-central-station-on-information-of-goods-going-to-kalka-mail-for-evasion-of-tax
gst-team-raids-central-station-on-information-of-goods-going-to-kalka-mail-for-evasion-of-tax
उत्तर-प्रदेश

कर अपवंचना का कालका मेल में जा रहे माल की सूचना पर जीएसटी टीम ने सेन्ट्रल स्टेशन पर मारा छापा

news

— जांच के लिए गाड़ी से हटवाया पार्सल कोच, पार्सल मालिकोंं के आना का टीम कर रही इंतजार कानपुर, 23 फरवरी (हि.स.)। कर अपवंचना कर यात्री ट्रेन के पार्सल कोच से ले जाया जा रहे माल की सूचना पर वाणिज्य कर विभाग (जीएसटी) की टीम ने कानपुर सेन्ट्रल स्टेशन पर छापा मारा। स्टेशन के पर जैसे ही हावड़ा से कालका मेल ट्रेन प्लेटफार्म पर पहुंचते ही गाड़ी को जीएसटी की टीम ने घेर लिया और पार्सल कोच की छानबीन शुरु की गई। इस बीच रेलवे कर्मचारियों ने पार्सल कोच खोलकर कुछ नग निकालकर पार्सलघर में रख दिए थे। इन सभी को जीएसटी अधिकारियों ने कस्टडी में जांच करने की बात कही तो रेलवे अफसरों ने मना कर दिया। हालांकि गाड़ी में लगे पार्सल कोच को हटाकर स्टेशन पर ही रोक लिया गया और जीएसटी की टीम उसकी निगरानी में लग गए। बताते चलें कि, कालका मेल एक्सप्रेस सोमवार को हावड़ा से चलकर कानपुर के रास्ते गंतव्य को जा रही ट्रेन में करोड़ों की कर अपवंचना का माल ले जाया जा रहा है। इस सूचना के आधार पर वाणिज्य कर विभाग के संयुक्त आयुक्त डीके वर्मा के नेतृत्व में राजाराम, कमलेश कुमार सहित कई अधिकारी व कर्मी सेन्ट्रल स्टेशन पहुंच गए। अफसरों ने गाड़ी के पीछे लगे पार्सल कोच की तरफ पहुंचे, लेकिन तब तक रेलवे कर्मचारियों द्वारा उसमें से 25 नग निकालकर पार्सलघर में पहुचा दिए। जीएसटी की टीम ने कर अपवंचना का माल होने की हवाला देते हुए सामान को छानबीन के लिए उन्हें सौंपने की बात कही। जिस पर रेलवे के पार्सल अधिकारियों ने मना कर दिया। इस पर संयुक्त आयुक्त डीके वर्मा ने बिना जांच किए गाड़ी में लगे पार्सल कोच को आगे नहीं देने पर अड़ गए और फिर रेलवे अफसरों ने गाड़ी से उस कोच को हटाया गया। इसके बाद कालका मेल ट्रेन को गंतव्य के लिए रवाना किया। संयुक्त आयुक्त ने गाड़ी से हटाए गए पार्सल कोच से रात में माल निकाल लिए जाने की आशंका पर जीएसटी कर्मियों की दो टीमों को देखरेख में लगा दिया। मंगलवार को कोच में रखे माल की जांच के लिए जीएसटी के अफसर पहुंच गए हैं। साथ पार्सलघर में रखे 25 नगों की भी छानबीन की जा रही है। हालांकि रेलवे अफसरों ने जिनके नाम पर माल बुक हैं उनके आने के बाद ही माल खोलकर जांच करने की बात कही गई है। हिन्दुस्थान समाचार/हिमांशु/मोहित

AD
AD