संस्थानों को राज्यपाल का सख्त आदेश, विज्ञापन में हो चयन प्रक्रिया का स्पष्ट उल्लेख

संस्थानों को राज्यपाल का सख्त आदेश, विज्ञापन में हो चयन प्रक्रिया का स्पष्ट उल्लेख
governor39s-strict-order-to-the-institutions-there-should-be-a-clear-mention-of-the-selection-process-in-the-advertisement

- एसजीपीजीआई व लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान की ऑनलाइन समीक्षा बैठक सम्पन्न लखनऊ, 30 जून (हि.स.)। उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने बुधवार को राजभवन से संजय गांधी स्नातकोत्तर आयुर्विज्ञान संस्थान (एसजीपीजीआई) और डॉ राम मनोहर लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान की आनलाइन समीक्षा बैठक की। इस मौके पर कुलाधिपति ने सख्त आदेश दिया कि विज्ञापन में चयन प्रक्रिया का स्पष्ट उल्लेख होना चाहिए। उन्होंने कहा कि विभिन्न शैक्षणिक पदों पर भर्ती के माध्यम से नियुक्ति में पारदर्शिता तथा शासन द्वारा निर्धारित एक समान चयन प्रक्रिया अपनायी जाए। विज्ञापन में सम्पूर्ण चयन प्रक्रिया का स्पष्ट उल्लेख हो और उसे वेबसाइट पर भी अपलोड किया जाए। राज्यपाल ने निर्देश दिये कि अनुपयोगी खातों को बंद करते हुए संस्थान में वित्तीय जरूरतों के लिये न्यूनतम खाते रखे जायें। कैश बुक तथा बैलेन्स सीट अनिवार्य रूप से तैयार की जाए। राज्यपाल ने दोनों संस्थानों को डिजिटल लाॅकर की शीघ्र व्यवस्था करते हुए छात्रों के सभी रिकार्ड उसमें रखने के निर्देश दिए। वहीं, संस्थानों में चल रहे निर्माण कार्यों की समीक्षा करते हुए निर्देश दिये कि सभी निर्माण कार्यों का नियमित अनुश्रवण किया जाए। उन्होंने एक समिति का गठन कर निर्माण कार्यों की गुणवत्ता एवं समयबद्धता की निगरानी करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि संस्थान नयी शिक्षा नीति के प्राविधानों को तैयार करके यथाशीघ्र लागू करें। इस अवसर पर उत्तर प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री सुरेश खन्ना, अपर मुख्य सचिव राज्यपाल महेश कुमार गुप्ता, प्रमुख सचिव चिकित्सा शिक्षा आलोक कुमार, एसजीपीजीआई के निदेशक प्रो राधा कृष्ण धीमान, लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान की निदेशक डॉ सोनिया नित्यानंद, विशेष कार्याधिकारी (शिक्षा) डॉ पंकज जानी सहित दोनों संस्थानों के अन्य अधिकारी भी उपस्थित रहे। हिन्दुस्थान समाचार/राजेश

अन्य खबरें

No stories found.