government-satish-dwivedi-is-committed-to-the-welfare-of-village-poor-and-farmer
government-satish-dwivedi-is-committed-to-the-welfare-of-village-poor-and-farmer
उत्तर-प्रदेश

गांव, गरीब एवं किसान के कल्याण को संकल्पित है सरकार-सतीश द्विवेदी

news

बस्ती, 13 फरवरी (हि.स.)। उत्तर प्रदेश सरकार के बेसिक शिक्षा राज्यमंत्री डॉ. सतीश चन्द्र द्विवेदी ने कहा है कि केंद्रीय आम बजट में प्रदेश को विकास की ओर आग्रसित करने के लिए विशेष ध्यान दिया गया है। केंद्र तथा प्रदेश सरकार सभी वर्गों के लिए निरंतर कार्य कर रही है। डॉ. द्विवेदी ने शनिवार को पत्रकारों से बातचीत में कहा कि आम बजट में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने अनुसूचित जनजाति बाहुल्य इलाकों में एकलव्य विद्यालय खोले जाने की घोषणा की है। इन विद्यालयोें का निर्माण 48 करोड़ रूपये से होगा। यह बजट देश के गांव, गरीब एवं किसान के कल्याण और हर भारतीयों के विकास के सपने को समर्पित बजट है। बजट 2021-22 छह स्तम्भों पर आधारित है। बजट में रोजगार स्वास्थ्य, कृषि एवं किसान, शिक्षा, जलजीवन, बिजली, महिला सशक्तीकरण सहित अन्य बिन्दुओं पर धान दिया गया। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार का सबका साथ सबका विकास के मंत्र से प्रेरित बजट 2021-22 गरीबों किसानों, मध्यम वर्गीय लोगों को मजबूती देने वाला है। उन्होंने कहा कि पहली बार स्वास्थ्य क्षेत्र के बजट को 137 फीसदी तक बढ़ाकर पिछली बार के 92 हजार करोड़ रूपये के मुकाबले 2 लाख 32 हजार करोड़ रूपये किया गया है। 64,180 करोड़ रूपये आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना के लिए दिए गए हैं।आत्मनिर्भर स्वस्थ योजना से लगभग 75 हजार गांवों के वेलनेस सेंटर्स को सहायता मिलेगी। 602 जिलो में क्रिटिकल केयर हॉस्पिटल और हेल्थ इमरजेंसी ऑपरेशन सेंटर्स शुरू होने से ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य सिस्टम काफी मजबूत होगा। नेशनल इंस्टीट्यूशन ऑफ वर्ल्ड हेल्थ के साथ चार नए नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी और 9 बायोसेफ्टी लेवल 3 लैब खोलने का एलान पब्लिक स्वास्थ्य की दिशा में मील का पत्थर साबित होगा। कोरोना वैक्सीन पर 2021—22 में 35 हजार करोड़ खर्च किये जाने का प्रावधान यह दिखाता है। मोदी सरकार कोविड को भारत से जड़ से खत्म करने के लिए कितना गम्भीर है। इतना ही नहीं सरकार ने कहा है कि जरूरत पड़ने पर इसके लिए ज्यादा फंड दिया जायेगा। बंगाल में 25 हजार करोड़ रूपये की लागत से 675 किलोमीटर लम्बा राष्ट्रीय राजमार्ग बनाये जाने की घोषणा और कोलकत्ता-सिलीगुड़ी रोड के अपग्रेडेशन से पश्चिम बंगाल में न केवल इन्फ्रास्ट्रक्चर मजबूत होगा बल्कि रोजगार का भी सृजन होगा। हिन्दुस्थान समाचार/महेंद्र/दीपक-hindusthansamachar.in