from-ladakh-to-kanyakumari-a-young-man-who-went-on-foot-carrying-the-tricolor-reached-jhansi-fort
from-ladakh-to-kanyakumari-a-young-man-who-went-on-foot-carrying-the-tricolor-reached-jhansi-fort
उत्तर-प्रदेश

लद्दाख से कन्याकुमारी के लिए तिरंगा लेकर पैदल निकला युवक पहुंचा झांसी दुर्ग

news

- रक्तदान, पर्यावरण बचाव व जल बचाव के साथ गिनीज बुक के लिए है एल टू के हाईक झांसी, 20 जून (हि.स.)। लद्दाख से पैदल चलकर कन्याकुमारी के लिए निकला तिरंगा लिए एक युवक रविवार को वीरांगना भूमि झांसी पहुंचा। यहां उसने वीरांगना महारानी के ऐतिहासिक दुर्ग को प्रणाम कर आगे की यात्रा शुरु की। इस दौरान उसने लोगों को रक्तदान, पर्यावरण बचाव व जल बचाव का संदेश भी दिया। मथुरा के कोशीकलां निवासी अवधेश शर्मा पिछले 47 दिनों से पैदल यात्रा कर रहे हैं। वह लद्दाख की उत्तरी सीमा से लगे गांव से चलकर कन्याकुमारी तक 04 हजार दो सौ किमी की यात्रा पैदल ही पूरी करने को निकले हुए हैं। इसके पीछे उनका उद्देश्य बड़ा है। एक तो वह गिनीज बुक आफ वर्ल्ड रिकाॅर्ड में अपना नाम दर्ज कराना चाहते हैं। दूसरा इस यात्रा के दौरान वह लोगों को कुछ संदेश भी देना चाहते हैं। उन्होंने बताया कि वह आरजीबी का संदेश लेकर चल रहे हैं। आर का आशय रेड अर्थात लाल से है। इसके द्वारा वह लोगों को रक्तदान करने को जागरुक करना चाहते हैं। जी से आशय ग्रीन से है। अर्थात वह पर्यावरण को बचाने का सबसे आग्रह कर रहे हैं। साथ ही बी शब्द से ब्लू अर्थात जल संरक्षण की अपील भी लोगों से कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि आगामी दो महीने तक उनकी पैदल यात्रा अभी और जारी रहने वाली है। उनकी कोशिश होगी कि आगामी 15 अगस्त 2021 को उनकी यात्रा कन्याकुमारी में जाकर समपन्न हो। इस पूरी यात्रा को उन्होंने एल टू के हाईक का नाम दिया है। हिन्दुस्थान समाचार/महेश