बागपत में बंद गाडी में दम घुटने से चार बच्चों की मौत

बागपत में बंद गाडी में दम घुटने से चार बच्चों की मौत
four-children-died-of-suffocation-in-a-closed-vehicle-in-baghpat

बागपत, 07 मई (हि.स.)। चांदीनगर थाना क्षेत्र के सिंगौली तगा गांव में शुक्रवार को बंद गाड़ी में दम घुटने से चार बच्चों की मौत हो गई। जबकि एक बच्चे की हालत गंभीर बनी हुई है। परिजनों की मांग पर पुलिस ने बच्चों के शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजने की कवायद शुरू कर दी। गांव में पुलिस बल तैनात है। सिंगौली तगा गांव निवासी हैप्पी की गाड़ी टाटा टिगौर उनके घर के बाहर खड़ी थी। गाड़ी का लाॅक खुला हुआ था। शुक्रवार की दोपहर को पांच बच्चे गाड़ी के अंदर बैठ गए। इसके बाद गाड़ी का सेंट्रल लाॅक लग गया और बच्चे बाहर नहीं निकल सके। बच्चों के घर नहीं पहुंचने पर परिजनों ने उनकी तलाश शुरू की तो बच्चे गाड़ी में बंद मिले। लोगों ने हैप्पी को बुलाकर गाड़ी खुलवाई, तब तक आठ वर्षीय नियति पुत्री संदीप, चार वर्षीय वंदना पुत्री संदीप, चार वर्षीय अक्षय पुत्र विकास और सात वर्षीय कृष्णा पुत्र विकास की मौत हो चुकी थी। जबकि एक बच्चे आठ वर्षीय शिवांग पुत्र प्रशांत की हालत खराब थी। परिजनों ने उसे तत्काल अस्पताल में भर्ती कराया। ग्रामीणों ने गाड़ी मालिक पर हत्या का आरोप लगाते हुए हंगामा किया। लोगों ने कहा कि गाड़ी मालिक ने गाड़ी को लाॅक नहीं किया था, इस कारण ही बच्चे उसमें घुस गए। अगर गाड़ी लाॅक होती तो यह हादसा नहीं होता। सूचना पर सीओ खेकड़ा मंगल सिंह रावत पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे। सीओ ने बताया कि परिजनों की मांग पर पोस्टमार्टम की कार्रवाई की जा रही है। जिलाधिकारी ने जताया दुःख चार बच्चों की मौत की घटना पर जिलाधिकारी राजकमल यादव ने गहरा दुःख व्यक्त किया और परिजनों को सांत्वना दी। जिलाधिकारी ने कहा कि हादसा दर्दनाक है। हमारी छोटी सी लापरवाही कभी-कभी बडी खतरनाक हो जाती है। हिन्दुस्थान समाचार/सचिन