गौतमबुद्धनगर के पूर्व जिलाधिकारी को एक साल चली जांच के बाद मिली क्लीन चिट

गौतमबुद्धनगर के पूर्व जिलाधिकारी को एक साल चली जांच के बाद मिली क्लीन चिट
former-district-magistrate-of-gautam-buddha-nagar-got-a-clean-chit-after-a-year-of-investigation

नोएडा, 22 मई (हि.स.)। पिछले वर्ष कोरोना काल के दौरान कार्य में लापरवाही, शिथिलता व अनियमितता बरते जाने के मामले में गौतमबुद्धनगर के पूर्व जिलाधिकारी बृजेश नारायण सिंह (बीएन सिंह) को क्लीन चिट दे दी गई है। इस मामले में एक साल से ज्यादा समय तक उनके खिलाफ जांच चली बृजेश नारायण सिंह 2009 बैच के आईएएस अधिकारी हैं। कोरोना रोकथाम में लापरवाही बरतने पर पिछले साल मार्च में उन्हें गौतमबुद्ध नगर के जिलाधिकारी पद से हटाते हुए तबादला कर कर दिया गया था और राजस्व परिषद से सम्बद्ध कर दिया गया था। एक साल से भी ज्यादा लंबी चली जांच में उन्हें दोषी नहीं पाया गया है। आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने उस दौरान बीएन सिंह की जमकर क्लास ली थी और यहां तक कह दिया था कि बकवास बन्द करो। 30 मार्च को उनके खिलाफ अनुशासनात्मक करवाई के आदेश हुए। जिसके बाद 28 अगस्त 2020 को उनको आरोप पत्र जारी किया गया। 27 अगस्त को बीएन सिंह ने आरोप पत्र में लगे आरोपों का जवाब पत्र के माध्यम से दिया। इसके बाद प्रमुख सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ ने जांच करने के बाद उन्हें क्लीन चिट देते हुए उनके खिलाफ करवाई समाप्त कर दी। हिन्दुस्थान समाचार/फरमान