कोविड प्रोटोकाल का पालन कर अलविदा की नमाज अदा, कोविड से मुक्ति के लिए खुदा से दुआएं मांगी

कोविड प्रोटोकाल का पालन कर अलविदा की नमाज अदा, कोविड से मुक्ति के लिए खुदा से दुआएं मांगी
following-the-kovid-protocol-the-prayer-of-goodbye-prayed-to-god-for-deliverance-from-kovid

वाराणसी, 07 मई (हि.स.)। कोरोना काल में माहे रमजान के अन्तिम जुमा पर शुक्रवार को कड़ी सुरक्षा के बीच अलविदा जुमा की नमाज अदा की गई। मस्जिद ज्ञानवापी से लेकर मस्जिद लगड़ा हाफिज नई सड़क, मस्जिद खरबूजा शहीद, जामा मस्जिद नदेसर, मस्जिद लाट सरैंया सहित शहर के अन्य मस्जिदों और इबादतगाहों में अलविदा जुमे की नमाज कोरोना प्रोटोकाल का पालन कर इमाम सहित पांच नमाजियों ने अदा की। बाकी रोजेदारों ने अलविदा की नमाज पूरे अकीदत से अपने परिजनों के साथ घर में अदा की। कोरोना संक्रमण का खतरा देख धर्मगुरूओं की अपील पर नमाजी मस्जिद में नहीं आये। सामान्य दिनों में अलविदा की नमाज के लिए मस्जिदों और इबादतगाहों में पैर रखने की जगह नही बचती। कोरोना के चलते नमाजियों ने घर में ही नमाज अदा की। नमाज के बाद घर परिवार में खुशहाली, रोजी-रोजगार में बरकत और कोविड संक्रमण से मुक्ति दिलाने के लिए रोजेदारों ने खुदा से दुआएं मांगीं। नमाज खत्म होने के बाद लोग ईद पर सेवईं, खजूर, रेडीमेड कपड़ों, जूता-चप्पल और शृंगार सामग्रियों की खरीदारी के जुगाड़ में जुट गये। लॉकडाउन के चलते लोगों को इन सामानों की खरीददारी के लिए भी मशक्कत करनी पड़ रही है। हिन्दुस्थान समाचार/श्रीधर