fasten-in-more-than-four-thousand-vehicles-after-nhai-hardening
fasten-in-more-than-four-thousand-vehicles-after-nhai-hardening
उत्तर-प्रदेश

एनएचएआई के सख्ती के बाद चार हजार से अधिक वाहनों में लगे फास्टैग

news

लखनऊ, 17 फरवरी (हि.स.)। भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) की सख्ती के बाद रायबरेली रोड स्थित निगोहा और इंटौजा टोल प्लाजा पर कैंप लगाकर चार हजार से अधिक वाहनों में अब तक फास्टैग लगाए गए हैं। इसके अलावा रात 12 बजे के बाद से करीब 3400 से अधिक वाहनों से दोगुना शुल्क दोनों टोल प्लाजा पर वसूला गया। भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण फास्टैग लगवाने के लिए वाहन संचालकों को इस समय तेजी से जागरूक कर रहा है। रायबरेली रोड स्थित निगोहा और इंटौजा टोल प्लाजा पर कैंप लगाकर चार हजार से अधिक वाहनों में फास्टैग लगाए हैं। इसके अलावा अब तक करीब 3400 से अधिक वाहनों से दोगुना शुल्क दोनों टोल प्लाजा पर वसूला गया है। एनएचएआई के महाप्रबंधक एनएन गिरी ने बुधवार को बताया कि कैश लेन-देन पूरी तरह से खत्म हो जाने के बाद वाहनों की गति प्लाजा पर बढ़नी शुरू हो गई है। फिलहाल अब तक कैंप लगाकर करीब चार हजार वाहनों में फास्टैग लगाए गए हैं। टोल प्रबंधक अनिरुद्ध सिंह ने बताया की सोमवार रात 12 बजे से मंगलवार शाम तक करीब 2000 वाहनों से निगोहा टोल प्लाजा पर दोगुना शुल्क वसूला गया है। वहीं इंटौजा टोल प्लाजा पर भी करीब 1400 वाहनों से दोगुना शुल्क लिया गया है। दरअसल, फास्टैग इलेक्ट्रॉनिक टोल कलेक्शन की एक तकनीक है। इसमें रेडियो फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन (आरएफआईडी) का इस्तेमाल होता है। इस टैग को वाहन के विंडस्क्रीन पर लगाया जाता है। जैसे ही गाड़ी टोल प्लाजा के पास आती है, तो टोल प्लाजा पर लगा सेंसर वाहन के विंडस्क्रीन पर लगे फास्टैग को ट्रैक कर लेता है। हिन्दुस्थान समाचार/दीपक-hindusthansamachar.in