अन्ना प्रथा पर अंकुश लगाने को अरछाबरेठी गौशाला में किसानों ने एकत्र किया भूसा

अन्ना प्रथा पर अंकुश लगाने को अरछाबरेठी गौशाला में किसानों ने एकत्र किया भूसा
farmers-collected-straw-at-archabarethi-gaushala-to-curb-anna-system

चित्रकूट, 29 अप्रैल (हि.स.)। अन्ना रोकने व गौसंरक्षण की गरज से स्थायी एवं अस्थायी गौशालाओं में गौवंशों को भूसा के इंतजाम करने को पहाडी ब्लाक के अरछाबरेठी गांव में पत्रकार शंकर यादव की पहल पर किसानों ने भूसा बैंक की स्थापना शुरु कर दी है। गुरुवार को इस पुनीत कार्य में गांव के किसान दरियाव सिंह ने 50 झाल भूसा गौशाला में दान दिया। इसी क्रम में राजू सिंह, राजा सिंह, पप्पू सिंह, मुन्नी सिंह, महेन्द्र सिंह, शिवबली सिंह यादव, गिरपाल यादव, राधेरमण यादव, गोरेलाल यादव, शिवकरन यादव, राजकरन यादव, लंगड़ा भाई व ज्ञान यादव आदि किसानों ने भी गौसेवा को भूसा दान में बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया। अरछाबरेठी गांव की गौशाला में एक सैकड़ा अन्ना गौवंश हैं। फसल बुवाई बरसात गिरते ही शुरु हो जायेगी। इन गौवंशों को गौशाला में चारा-भूसा का इंतजाम शासन की ओर से किया जाना चाहिए, लेकिन शासन की ओर से व्यवस्था पर्याप्त न होने से किसानों ने भूसा संग्रह का कार्य पहले से शुरु कर दिया है, ताकि आने वाले दिनों में गौवंशों को भूसा की कमी न होने पाये। गांव के सुरेन्द्रनाथ गुप्ता, कुबेर, सुरेश कुशवाहा, शंकर यादव, गोरेलाल यादव, धर्मराज वर्मा आदि ने दिल खोलकर भूसा दान की अपील की है। हिन्दुस्थान समाचार / रतन