गंगा दशहरा की शुभकामना दे बोले ऊर्जामंत्री, 31 अक्टूबर के बाद नहीं गिरेगा यमुना में गंदा पानी

गंगा दशहरा की शुभकामना दे बोले ऊर्जामंत्री, 31 अक्टूबर के बाद नहीं गिरेगा यमुना में गंदा पानी
energy-minister-said-wishing-ganga-dussehra-dirty-water-will-not-fall-in-yamuna-after-october-31

- मसानी में 30 एमएलडी के एसटीपी का काम हो जाएगा पूरा : श्रीकान्त शर्मा - मथुरा-वृन्दावन के सभी 35 नालों की पूरी हो जाएगी टैपिंग - अभी खुले नालों में जैविक उपचार कर कम किया जा रहा है प्रदूषण का खतरा मथुरा, 20 जून (हि.स.)। प्रदेश के ऊर्जा एवं अतिरिक्त ऊर्जा स्रोत मंत्री पं. श्रीकान्त शर्मा ने रविवार गंगा दशहरा पर्व को लेकर ब्रजवासियों को जहां शुभकामनाएं दी है वहीं उन्होंने वृंदावन में यमुना घाटों पर गिरते नालों का निरीक्षण किया है। उन्होंने कहा है कि मथुरा-वृन्दावन में गिरने वाले सभी 35 नालों की टैपिंग का कार्य इस साल 31 अक्टूबर तक पूरा हो जाएगा। इसके बाद एक भी बूंद गंदा पानी यमुना में नहीं गिरेगा। ऊर्जा मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के देश की नदियों को निर्मल करने के संकल्प की दिशा में योगी सरकार तेजी से कार्य कर रही है। मथुरा-वृन्दावन में 35 नाले यमुना में गिरते हैं। इनमें से 20 नालों को बंद करने का कार्य पूरा हो गया है। 07 नाले आंशिक रूप से बंद किये जा चुके हैं और 08 नालों को बंद करने का काम शुरु होना है। आंशिक रूप से बंद 03 नालों और 07 खुले नालों में जैविक उपचार (बायोरेमेडिएशन) प्रक्रिया की जा रही है जिससे यमुना में गिरने पर गंदगी से प्रदूषण का खतरा कम हो। शेष 05 नालों में भी यह प्रक्रिया अगले हफ्ते से शुरू हो जाएगी। ऊर्जा मंत्री ने कहा कि बंगाली घाट पर पम्पिंग स्टेशन और मसानी में 30 एमएलडी के एसटीपी प्लांट का कार्य पहले ही पूरा हो जाना था, लेकिन कोरोना महामारी के कारण यह कार्य प्रभावित हुआ। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार यमुना के शुद्धिकरण के लिए संकल्पबद्ध है। घाटों और यमुना की स्वच्छता के लिए श्रद्धालुओं व ब्रजवासियों के निरंतर सहयोग से यमुना का पौराणिक स्वरूप लौटेगा। हिन्दुस्थान समाचार/महेश

अन्य खबरें

No stories found.