ऊर्जा मंत्री ने कोविड-19 गाइडलाइंस को लेकर उपकेन्द्रों का निरीक्षण किया

ऊर्जा मंत्री ने कोविड-19 गाइडलाइंस को लेकर उपकेन्द्रों का निरीक्षण किया
energy-minister-inspects-sub-centers-with-reference-to-kovid-19-guidelines

- उपकेन्द्रों पर उपभोक्ताओं और विद्युत कर्मियों की कोविड से सुरक्षा के इंतजाम पूरे हों : श्रीकान्त शर्मा - उपकेन्द्रों पर हो कोरोना से बचाव के सभी दिशानिर्देशों का पालन, यूपीपीसीएल चेयरमैन करें सुनिश्चित - विद्युतकर्मी स्वयं की भी रक्षा करें और उपभोक्ताओं को भी कोरोना से बचायें - घर बैठे ऑनलाइन विद्युत सेवाओं का लाभ लेने के लिए उपभोक्ताओं को प्रेरित करें लखनऊ, 14 अप्रैल (हि.स)। उत्तर प्रदेश के ऊर्जा मंत्री श्रीकान्त शर्मा ने विद्युत उपकेन्द्रों में कोविड-19 से सुरक्षा की गाइडलाइंस के अनुपालन को लेकर बुधवार को उपकेन्द्रों का निरीक्षण किया। ऊर्जा मंत्री ने यूपीपीसीएल चेयरमैन को निर्देश दिए कि उपकेन्द्रों में आने वाले उपभोक्ताओं और 24 घंटे निर्बाध आपूर्ति व उपभोक्ता सेवा में जुटे विद्युत कार्मिकों की सुरक्षा के लिए पर्याप्त इंतजाम हों। ऊर्जा मंत्री ने लेसा के वृंदावन उपखंड के सेक्टर 9बी, सेक्टर 5, रजनी खण्ड और रतन खण्ड उपकेन्द्रों का निरीक्षण किया। इस दौरान उपभोक्ताओं और निर्बाध विद्युत आपूर्ति में जुटे कार्मिकों के लिए उपलब्ध सुविधाओं की समीक्षा की। उन्होंने सभी उपकेन्द्रों के विद्युत कार्मिकों के वैक्सीनेशन की जानकारी ली। कार्मिकों को पर्याप्त फेस शील्ड, मास्क, सेनेटाइजर व ग्लव्स उपलब्ध कराने के लिए कहा। विद्युत कार्मिकों से अपने संवाद में उन्होंने कहा कि कोरोना की पहली लहर में आप लोगों ने निर्बाध आपूर्ति सुनिश्चित कर लोगों का घर में रहना और सुरक्षित रहना तय किया। इस बार भी आप बेहतर आपूर्ति व उपभोक्ता सेवा से कोरोना के खिलाफ जंग को आसान करें।कार्मिक स्वयं की भी रक्षा करें और तय दिशानिर्देशों का पालन कर उपभोक्ताओं को भी कोरोना से बचायें। ऊर्जा मंत्री ने कहा कि उपभोक्ताओं के लिए उपकेन्द्रों में सैनिटाइजर डिस्पेंसर, फिजिकल डिस्टेंसिंग, पीने के पानी, बैठने के लिए जगह हो यह सभी एमडी डिसकॉम सुनिश्चित करें। यूपीपीसीएल चेयरमैन इसकी मॉनिटरिंग करें। ऊर्जा मंत्री ने कहा कि अधिक से अधिक उपभोक्ताओं को घर बैठे upenergy.in पर ऑनलाइन बिल जमा करने के लिए प्रेरित करें। बिल संशोधन की टोल फ्री नम्बर 1912 पर या ऑनलाइन आई शिकायतों का त्वरित निस्तारण हो यह भी सुनिश्चित करें। विद्युत कार्मिक डोर नॉक की बजाय उपभोक्ताओं को फोन कॉल कर बकाया जमा करने के लिए प्रेरित करें। हिन्दुस्थान समाचार/राजेश