24 घंटेें में कोरोना से प्रधानाध्यापक समेत आठ लोगों की मौत

24 घंटेें में कोरोना से प्रधानाध्यापक समेत आठ लोगों की मौत
eight-people-including-headmaster-died-in-24-hours-from-corona

- कोरोना की जांच में 176 नये संक्रमित भी मिले हमीरपुर, 29 अप्रैल (हि.स.)। कोरोना की चपेट में आने वालों की मौत का आंकड़ा तेजी से ऊपर चढ़ने लगा है। 24 घंटे के दरम्यान जनपद में अलग-अलग हिस्सों में कोरोना की चपेट में आने वाले दस लोगों की मौत हो गई। इनमें पूर्व प्रधान ने इलाज के दौरान कानपुर में दम तोड़ दिया। जबकि प्रधानाध्यापक को परिजन इलाज के लिए झांसी ले गए थे, लेकिन उनकी वहां पहुंचते ही मौत हो गई। उधर, 24 घंटे के दौरान जनपद में 176 नए कोरोना मरीज मिले हैं। इन नए मरीजों के साथ ही एक्टिव केसों की संख्या बढ़कर 1205 हो गई है। कुरारा सीएचसी में बनाया गया कोविड एल टू हॉस्पिटल में इस वक्त कोई ऐसा दिन नहीं जाता है जब दो या तीन लोगों की मौतें न हो रही हो। जबकि इससे पूर्व कोविड की पहली लहर में कुरारा में मौतें नहीं हुई थी। 24 घंटे के दौरान एल टू हॉस्पिटल में पांच लोगों की मौत हुई है। मरने वालों में दयाशंकर (65), विजय श्रीवास्तव (37) मराठीपुरा मौदहा, संतोष कुमार (40), घनश्याम (45) और अखिलेश खरे (46) हैं। इसके अलावा मेरापुर निवासी सेवानिवृत्त लेखपाल शिवराम अहिरवार (71) की कोरोना से मौत हो गई। मेरापुर निवासी राजू सचान की मां की भी कल कोरोना से कानपुर में मौत हुई थी। जिनका कल शाम को अंतिम संस्कार किया गया। आज जिले में 176 नए कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले हैं। जबकि 66 मरीजों को विभिन्न अस्पतालों से डिस्चार्ज किया गया है। अब तक जिले में कुल 3514 लोगों में कोरोना की पुष्टि हुई है, जिसमें 2266 मरीज ठीक भी हुए हैं। आज मिले मरीजों के बाद जिले में कुल एक्टिव केसों की संख्या बढ़कर 1205 हो गई है। आज 1714 लोगों के सैंपल लेकर जांच की गई। चार लोगों की मौत से डर बढ़ा, पालिका ने सैनिटाइज कराया मौदहा। गुरुवार को प्राथमिक विद्यालय सायर के प्रधानाध्यापक शमीम अहमद, पूर्व प्रधान छानी लाली प्रसाद व हलीम की कोरोना की चपेट में आकर मौत हो गई। लाली प्रसाद (48) पूर्व प्रधान थे। जिनकी मौत कानपुर में हुई। इस बार उन्होंने पंचायत चुनाव में अपनी मां रामसखी को ग्राम प्रधान का चुनाव लड़ाया था। चुनाव के दौरान वह कोरोना की चपेट में आए थे। 19 अप्रैल को चुनाव चिन्ह लेने के बाद से लाली बीमार थे और उसे कानपुर के अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जहां आज इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। वही नगर के शमीम अहमद (38) प्रधानाध्यापक की चुनाव ड्यूटी के दौरान हालत बिगड़ने पर उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां हालत में सुधार न होने के बाद आज उसकी मौत हो गई। नगर के मराठीपुरा निवासी विजय श्रीवास्तव (35) की हालत तीन दिन पूर्व बिगड़ी थी, जिस पर उन्हें सीएचसी से कुरारा भेजा गया था, जहां इलाज के दौरान गुरुवार की दोपहर उसकी मौत हो गई। विजय के मिलनसार वह मृदुभाषी होने के चलते मोहल्ले समय नगर में शोक का माहौल है। इसी प्रकार कजियाना निवासी हलीम (72) की भी कोरोना के चपेट में आकर मौत हो गई। नगर में एक दिन में हुई चार मौतों व पांच दर्जन से अधिक कोरोना से संक्रमित निकलने से लोगों के दिल में भय समा गया है। उधर, नगर पालिका ने अपनी टीमें लगाकर कस्बे के गली-मोहल्लों को सैनिटाइज करना शुरू कर दिया है। कोरोना हास्पिटल में 10 दिन में भर्ती हुए 224 मरीज सुमेरपुर कस्बा के राजकीय पॉलिटेक्निक कॉलेज में बनाए गए डेढ़ सौ बेड वाले हॉस्पिटल के नोडल अधिकारी डॉ. महेश चंद्रा ने बताया कि कोविड हॉस्पिटल में 10 दिन के अंदर 224 मरीज भर्ती हुए हैं। स्वस्थ होने पर 159 मरीजों को डिस्चार्ज किया गया है। 65 मरीज अभी भी भर्ती है। जिनका उपचार चल रहा है। 150 बेड वाले कोविड हास्पिटल का शुभारंभ 19 अप्रैल को हुआ था। सबसे खास बात यह है कि यहां पर भर्ती किसी भी मरीज की मौत नहीं हुई हैं। गुरुवार को कस्बा सहित ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों द्वारा कराई गई जांच में 21 लोग कोरोना पोजेटिव पाए गए हैं। जिन्हें कोविड अस्पताल में भर्ती कराया गया है। हिन्दुस्थान समाचार/ पंकज