education-service-tribunal-not-in-the-interest-of-teachers-expressed-opposition
education-service-tribunal-not-in-the-interest-of-teachers-expressed-opposition
उत्तर-प्रदेश

शिक्षा सेवा अधिकरण शिक्षकों के हित में नहीं, जताया विरोध

news

- प्रदेश अध्यक्ष ने सीएम को संबोधित जेडी को सौंपा पत्रक - मंडल स्तरीय बैठक के बाद दिया गया मांग पत्र मीरजापुर, 08 अप्रैल (हि.स.)। उत्तरप्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ (चेतनरायन गुट) के शिक्षकों की बैठक गुरुवार को नगर के सिविलाइन रोर्ड स्थित एएस जुबिली इंटरमीडिएट कालेज में पूर्व एमलएसी एवं संगठन के प्रदेश अध्यक्ष चेतनरायन सिंह की अध्यक्षता में हुई। इस दौरान शिक्षक सेवा अधिकरण विधेयक-2021को शिक्षक विरोधी बताते हुए तत्काल निरस्त करने की मांग की गई। बैठक के बाद प्रदेश अध्यक्ष के नेतृत्व में सीएम योगी आदित्यनाथ को संबोधित छह सूत्री मांग पत्र विंध्याचल मंडल के संयुक्त शिक्षा निदेशक कामता राम पाल को सौंप कर समस्याओं के त्चरित निस्तारण की मांग की गई। इससे पहले बैठक में प्रदेश अध्यक्ष ने अपने संगठन के प्रदेश मंत्री राजेंद्र प्रसाद तिवारी के जुबिली कालेज का प्रधानाचार्य बनने पर बधाई देते हुए सम्मानित किया। पत्रक में एनपीएस अभिदाता,नियोक्ता अंश,ब्याज का अद्यतन भुगतान सुनिश्चित करने की मांग के साथ ही केंद्रीय कर्मचारियों की तरह आयकर मुक्त रखने,नौ मार्च-2019 को सरकार से वार्ता के दौरान हुए करार को लागू करने, शिक्षकों के तबादले की ऑनलाइन प्रक्रिया में संशोधन करते हुए स्थानांतरण करने, आमेलित विषय विशेषज्ञों की कार्यावधि के अवशेषों का भुगतान करने आदि मांगे शामिल हैं। प्रदेश अध्यक्ष चेतनरायन सिंह, प्रदेश् मंत्री राजेंद्र प्रसाद तिवारी, मंडल अध्यक्ष वीरेंद्र बहादुर सिंह, जिलाध्यक्ष विनय कुमार सिंह, रविंद्र नारायण सिंह, भदोही जिलाध्यक्ष शारदा सिंह,मंत्री ऋषि सहाय पाठक, सोनभद्र के जिलाध्यक्ष गुलाब राय,मंत्री संजय कुमार पाठक रहे। हिन्दुस्थान समाचार/ गिरजा शंकर