DM takes charge of Zilla Panchayat as Administrator
DM takes charge of Zilla Panchayat as Administrator
उत्तर-प्रदेश

डीएम ने प्रशासक के रूप में जिला पंचायत की कमान संभाली

news

बांदा,14 जनवरी (हि.स.)।जिला पंचायत अध्यक्ष का कार्यकाल पूर्ण होने के फलस्वरूप शासनादेश के अनुपालन में आज आनन्द कुमार सिंह, जिलाधिकारी, बांदा द्वारा प्रशासक के रूप में जिला पंचायत, बांदा का कार्यभार ग्रहण किया गया। कार्यभार ग्रहण करने बाद उन्होंने कहा कि कोई भी अधिकारी-कर्मचारी बिना अनुमति के मुख्यालय से बाहर नहीं जायेंगे। कार्यभार ग्रहण करने के दौरान अपर मुख्य अधिकारी जिला पंचायत, बांदा एलएन खरे, अपर अभियन्ता प्र0सहायक अभियन्ता राकेश कुमार, अवर अभियन्ता राम कुमार त्रिपाठी, लेखाकर नरेन्द्र कुमार शर्मा सहित समस्त स्टाफ उपस्थित रहें। जिलाधिकारी ने जिला पंचायत कार्यालय एवं सम्पूर्ण परिसर का निरीक्षण किया। उन्होंने जिला पंचायत कार्यालय के सभी कर्मचारियों के कार्य विभाजन की सूची उपलब्ध कराये जाने के निर्देश दिये। साथ ही यह भी कहा कि कोई भी अधिकारीध्कर्मचारी बिना अनुमति के मुख्यालय से बाहर नहीं जायेंगे। कभी आकस्मिक निरीक्षण किया जा सकता है। उन्होंने अपर मुख्य अधिकारी जिला पंचायत से जिला पंचायत के अन्तर्गत क्या-क्या कार्य किये जाते है, और वर्तमान में जिला पंचायत की कहां-कहां जमीन उपलब्ध है एवं जिला पंचायत की सम्पत्ति का विवरण तथा निर्माण कार्यो का विवरण उपलब्ध कराये जाने के निर्देश दिये। जिलाधिकारी ने जिला पंचायत परिसर के निरीक्षण के दौरान कार्यालय के सभी पटलों, गेस्ट हाउस, मीटिंग हाॅल, मीटिंग हाॅल के बरामदे, पार्क सहित पूरे परिसर में अत्यधिक गंदगी पाये जाने पर असंतोष व्यक्त किया। उन्होंने एलएन खरे, अपर मुख्य अधिकारी को निर्देशित किया कि सम्पूर्ण परिसर की साफ-सफाई, रोशनी की व्यवस्था, अभिलेखों का रख-रखाव तत्काल कराया जाये। साथ ही यह भी कहा कि मेरे आगामी निरीक्षण के पूर्व साफ-सफाई, रोशनी की व्यवस्था अभिलेखों का रख-रखाव आदि समस्त कार्यवाही पूर्ण कर ली जायें। बताते चलें कि वर्ष 2016 जनवरी में जिला पंचायत अध्यक्ष की सीट बिसंडा के वार्ड नंबर 18 से जिला पंचायत सदस्य चुनी गई सपा की निर्मला सिंह ने नेम कसया देवी को 20 मतों से पराजित कर जिला पंचायत अध्यक्ष का पद हासिल किया था। 2 साल बीतने के बाद प्रदेश की सत्ता सपा से भाजपा के हाथ में आ गई।जिससे जिला पंचायत की राजनीति में भाजपा भारी पड़ी। अध्यक्ष के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव में सपा को मात खानी पड़ी। जिला पंचायत अध्यक्ष के विरुद्ध अविश्वास प्रस्ताव में 30 में से 21 सदस्यों ने प्रस्ताव के पक्ष में वोट दिया 9 सदस्य बैठक में नहीं आए। जिला पंचायत की अध्यक्षी सदर विधायक प्रकाश द्विवेदी की पत्नी सविता देवी को मिली। बीती रात उनका कार्यकाल खत्म हो गया। हिन्दुस्थान समाचार/अनिल-hindusthansamachar.in