बायोमेडिकल वेस्ट वाहनों को जिलाधिकारी ने हरी झंडी दिखाकर किया रवाना

बायोमेडिकल वेस्ट वाहनों को जिलाधिकारी ने हरी झंडी दिखाकर किया रवाना
district-collector-flagged-off-biomedical-waste-vehicles

बांदा, 04 मई (हि.स.)। जनपद बांदा के राजकीय एवं प्राइवेट चिकित्सा इकाइयों से जनित बायो मेडिकल वेस्ट की उठान एवं निस्तारण की समस्या के निराकरण को जिलाधिकारी आनंद कुमार सिंह द्वारा बामदेव स्मार्ट सॉल्यूशन प्राइवेट लिमिटेड बांदा द्वारा स्थापित कॉमन बायो मेडिकल वेस्ट ट्रीटमेंट फैसिलिटी, मोहनपुरवा, बांदा के वाहनों को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया गया। मुख्यालय से लगभग 15 किलोमीटर दूर मोहन पुरवा में कॉमन बायोमेडिकल वेस्ट फैसिलिटी यूनिट स्थापित की गई है। यह चित्रकूट धाम मंडल की इकलौती यूनिट है।जिसके माध्यम से मंडल के सरकारी गैर सरकारी अस्पताल, क्लिनिको, पैथोलॉजी नर्सिंग होम्स आदि से निकलने वाले जैविक कचरा का निस्तारण किया जाएगा। इस यूनिट की स्थापना विगत 15 मार्च को की गई थी जिस का औपचारिक शुभारंभ अब किया जा रहा है। आज जिला अस्पताल से जैव चिकित्सीय अपशिष्ट लेकर गाड़ियां रवाना हुई, जिन्हें जिला अधिकारी ने हरी झंडी दिखाई। इसके पहले मंडल का बायोमेडिकल कचरा झांसी में निस्तारित किया जाता था लेकिन झांसी की कंपनी द्वारा सिर्फ कागजों में ही कचरा का निस्तारण किया जा रहा था। जिसकी शिकायतें मिलने के बाद बांदा में जैव चिकित्सीय अपशिष्ट निस्तारण संयंत्र की स्थापना की गई। इस मौके पर डॉ. एन. डी. शर्मा मुख्य चिकित्सा अधिकारी बांदा, डॉ. उदयभान मुख्य चिकित्सा अधीक्षक जिला चिकित्सालय पुरुष बाँदा एवं डॉ. श्रीमती चारु गौतम मुख्य चिकित्सा अधीक्षक जिला महिला चिकित्सालय बाँदा उपस्थित रहे। हिन्दुस्थान समाचार/अनिल