प्रदेश में पंचायत चुनाव टालने की मांग हाईकोर्ट से खारिज

प्रदेश में पंचायत चुनाव टालने की मांग हाईकोर्ट से खारिज
demand-to-postpone-panchayat-elections-in-the-state-rejected-by-the-high-court

कोर्ट ने कहा, सरकार व कोर्ट ने जरूरी कदम उठाने के जारी किये हैं निर्देश प्रयागराज, 07 अप्रैल (हि.स.)। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने प्रदेश में कोरोना संक्रमण प्रकोप को देखते हुए पंचायत चुनाव टालने की मांग में दाखिल जनहित याचिका खारिज कर दी है। कोर्ट ने कहा कि सरकार ने चुनाव प्रचार की आचार संहिता जारी की है और हाईकोर्ट ने भी अन्य जनहित याचिका पर जरूरी कदम उठाने के निर्देश जारी किये हैं। कोरोना संक्रमण फैलने से रोकने को लेकर जरूरी सावधानी बरती जायेगी। ऐसे में चुनाव स्थगित करने की मांग में दाखिल जनहित याचिका पर हस्तक्षेप करने का कोई आधार नहीं है। यह आदेश मुख्य न्यायाधीश गोविंद माथुर और न्यायमूर्ति एस एस शमशेरी की खंडपीठ ने पंचायत चुनाव स्थगित करने की जनहित याचिका पर दिया है। याची अधिवक्ता अमित कुमार उपाध्याय व सौम्या आनंद दूबे का कहना था कि प्रदेश में कोरोना तेजी से फैल रहा है। 15 अप्रैल से पंचायत चुनाव होने जा रहा है। कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बीच चुनाव कराना जनहित के खिलाफ है। इससे भारी संख्या में लोगों के स्वास्थ्य को हानि हो सकती है, जो अनुच्छेद 21के जीवन के अधिकार का उल्लंघन है। कोर्ट ने इस उम्मीद के साथ हस्तक्षेप करने से इंकार कर दिया कि चुनाव में जरूरी सावधानी बरती जायेगी। हिन्दुस्थान समाचार/आर.एन