crowds-gathered-at-the-mandali-fruit-flower-and-shakabhaji-exhibition-participants-rewarded
crowds-gathered-at-the-mandali-fruit-flower-and-shakabhaji-exhibition-participants-rewarded
उत्तर-प्रदेश

मण्डलीय फल पुष्प एवं शाकभाजी प्रदर्शनी में उमड़ी भीड़, प्रतिभागी हुए पुरस्कृत

news

- किंग ऑफ द शो गुलाब श्रेणी का पुरस्कार मुख्य अधिशासी अधिकारी छावनी परिषद को मिला - चल वैजयंती के तीन पुरस्कार बीएचयू को वाराणसी, 21 फरवरी (हि.स.)। जिला मुख्यालय के समीप स्थित राजकीय उद्यान कम्पनीबाग में लगातार दूसरे दिन रविवार को भी मण्डलीय फल पुष्प एवं शाकभाजी प्रदर्शनी देखने के लिए शहरियों के साथ आसपास के किसानों, पर्यटकों की भीड़ उमड़ पड़ी। प्रदर्शनी में फूलों से बनाई गई आकृतियों 10 फीट ऊंचा शिवलिंग, हॉकी स्टिक और गेंद, आम, पान, हाथी, हिरन और मोर के अलावा 50 साल के बोनसाई पीपल और पाकड़, फूलों के राजा गुलाब,रंगोली, वर्टिकल गार्डेन लोगों को अपनी ओर खींचते रहे। प्रदर्शनी में सुबह दस बजे से ही लोग पहुंचने लगे। दो दिवसीय नवें मण्डलीय फल पुष्प एवं शाकभाजी प्रदर्शनी के समापन समारोह में प्रदेश के स्टाम्प एवं पंजीयन राज्यमंत्री रविंद्र जायसवाल बतौर मुख्य अतिथि शामिल हुए। राज्यमंत्री ने प्रदर्शनी और स्टालों का अवलोकन करने के बाद विजेता प्रतिभागियों को चल बैजन्ती/कप भी दिया। निदेशक उद्यान, मुन्ना यादव ने आगामी वर्ष में भी भव्य प्रर्दशनी आयोजित करने का संकल्प दोहराया। जिला उद्यान अधिकारी, सन्दीप कुमार गुप्त ने बताया कि प्रदर्शनी से जनपद के कृषकों के साथ-साथ मण्डल के भी कृषकों में निर्यात योग्य शाकभाजी, फल उत्पादन की प्रेरणा मिली है। संदीप गुप्त ने बताया कि प्रदर्शनी में आये लोगों ने पर्यावरण संरक्षण में योगदान करने का संकल्प भी लिया। समापन समारोह का संचालन ज्योति कुमार सिंह ने किया। प्रदर्शनी में शामिल ये प्रतिभागी हुए पुरस्कृत मण्डलीय फल पुष्प एवं शाकभाजी प्रदर्शनी में चल बैजन्ती/कप प्राप्त करने वाले प्रमुख विजयी प्रतिभागियों में शाकभाजी वर्ग में स्व0 महादेव संस्थापक आधुनिक ग्राम्य विकास संस्थान, सरैया, चुनार, मीरजापुर चल बैजन्ती शील्ड, वरिष्ठ अधीक्षक, केंद्रीय कारागार वाराणसी को, फल वर्ग में स्व0 वंशराज पटेल, ग्राम-महिमापुर, धौकलगंज, वाराणसी मेमोरियल चल बैजन्ती, डी0आर0यम0, नॉर्थ ईस्ट रेलवे को, शाकभाजी एवं फलों से संरक्षित पदार्थ वर्ग में देवकुमारी गुप्ता, प्रो0 देवा फूड्स एण्ड स्पाइसेज प्रोडक्ट, महामनापुरी, वाराणसी चल बैजंती, आलोक कुमार, नेवादा वाराणसी को, गुलाब के कटे फूल वर्ग में स्व0 डी0एन0 सिंह, भू0पू0 उद्यान निरीक्षक, डी0रे0का0 वाराणसी मेमोरियल चल बैजंती, मुख्य अधिशाषी अधिकारी, छावनी परिषद, वाराणसी को, गुलाब के कटे फूल वर्ग मे स्व0 डी0एन0 सिंह, भू0पू0 आलू विकास अधिकारी, मेमोरियल चल कप, किंग ऑफ द शो गुलाब श्रेणी, मुख्य अधिशासी अधिकारी छावनी परिषद को और क्वीन आफ दि शो वर्ग में स्व0 रामदुलार संस्थापक, जय हिन्द नर्सरी, मंडुवाडीह, वाराणसी मेमोरियल कप, आकाश पटेल, मंडुआडीह को, डहेलिया के कटे फूल वर्ग में स्व0 राधेश्याम पाराशर शम्भूनगर, शिकोहाबाद मेमोरियल चल बैजंती, कमाण्डेण्ट 39-जी0टी0सी0, वाराणसी को, कटे मौसमी फूल वर्ग में स्व0 राम सिंह, पूर्व पार्षद दीनदयालपुर, सारनाथ, वाराणसी, मेमोरियल चल बैजंती, गमलों में जाड़े के मौसम फूलों के पौधे वर्ग में डॉ रविंद्र सिंह भूतपूर्व उप निदेशक उद्यान मेमोरियल चल बसंती, कलात्मक ढंग से मौसमी फूलों के गमलों के समूह वर्ग में कंठ श्री पाराशर शिकोहाबाद मेमोरियल चल वैजयंती के तीन पुरस्कार कुलपति, काशी हिंदू विश्वविद्यालय को, गमलों में लगी डहेलिया वर्ग, स्व0 वीरेन्द्र सिंह, जौनपुर मेमोरियल चल बैजंती, राजकीय उद्यान सर्किट हाउस वाराणसी, सदाबहार पत्तीवाले, फूल वाले गमलों के पौधे वर्ग में स्व0 भानू प्रसाद इण्डियन नर्सरी मेमोरियल, चल बैजंती, नगर आयुक्त नगर निगम वाराणसी को तथा शादी मण्डप वर्ग में स्व0 झारखण्डेय सिंह जनपद गाजीपुर, मेमोरियल चल वैजयंती सुरेश कुमार माली भोजूबीर वाराणसी को दिया गया। पुरस्कार वितरण समारोह में इनकी रही उपस्थिति दो दिवसीय प्रदर्शनी के पुरस्कार वितरण कार्यक्रम में विभागाध्यक्ष यूपी कॉलेज डॉ धर्मेंद्र सिंह, प्रगतिशील किसान पद्मश्री चंद्रशेखर सिंह,जिला कृषि अधिकारी सुभाष मौर्य आदि की विशिष्ट उपस्थिति रही। समापन समारोह में सांस्कृतिक कार्यक्रम ड्रीम इंडिया स्कूल पिशाच मोचन के बच्चों ने समूह नृत्य में आकर्षक प्रस्तुति दी। हिन्दुस्थान समाचार/श्रीधर