अस्पतालों में कोरोना गाइड लाइन का हो पालन, मिले बेहतर इलाज : जिलाधिकारी
अस्पतालों में कोरोना गाइड लाइन का हो पालन, मिले बेहतर इलाज : जिलाधिकारी
उत्तर-प्रदेश

अस्पतालों में कोरोना गाइड लाइन का हो पालन, मिले बेहतर इलाज : जिलाधिकारी

news

- इम्युनिटी बढ़ाने के लिए दी जाएं विटामिन की गोलियां - अस्पताल परिसर के अंदर कोई भी व्यक्ति बिना मॉस्क के न आये कानपुर, 27 जुलाई (हि.स.)। कोरोना संक्रमण लगातार बढ़ रहा है और ऐसे में इससे निपटने के लिए स्वास्थ्य विभाग दिन रात मेहनत भी कर रहा है, लेकिन लोगों में जागरुकता का आभाव है। ऐसे में जनपद के सभी अस्पताल यह सुनिश्चित करें कि कोरोना गाइडलाइन का पूरी तरह से पालन हो और अस्पताल में एक भी व्यक्ति ऐसा न आये जो मॉस्क न लगाये हो। अस्पताल आये मरीजों का शारीरिक दूरी का पालन कर बेहतर इलाज करें और उनकी शारीरिक इम्युनिटी बढ़ाने के लिए विटामिन की गोलियां दी जायें। यह बातें सोमवार को जिलाधिकारी डॉ. बीडीआर तिवारी ने अस्पतालों के औचक निरीक्षण के दौरान कहीं। जिलाधिकारी डा. ब्रह्मदेव राम तिवारी ने सोमवार को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र शिवराजपुर, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र चौबेपुर का औचक निरीक्षण किया। सबसे पहले डीएम सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र शिवराजपुर पहुंचे। यहां पर निरीक्षण के दौरान उन्होंने यहां उपस्थित संबंधित डॉक्टर को निर्देशित करते हुए कहा कि सफाई का ध्यान रखा जाए किसी भी दशा में गंदगी ना रहे यह सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने निर्देशित करते हुए कहा कि आने वाले मरीजों को शारीरिक दूरी का पालन कराते हुए ही इलाज किया जाए। बिना मास्क लगाए कोई भी व्यक्ति अस्पताल परिसर में ना रहे यह भी सुनिश्चित किया जाए। जिलाधिकारी ने निर्देशित करते हुए कहा कि आने वाले मरीजों को विटामिन सी की गोलियां अवश्य दी जाएं और उन्हें यह जागरूक किया जाए कि प्रत्येक स्थिति में कोविड प्रोटोकॉल का पालन करना है। यह आपकी आपके परिवार तथा समाज को सुरक्षित रखने की जिम्मेदारी सभी नागरिकों की है। इसके लिए आने वाले मरीजों व उनके तीमारदारों को यहां स्थापित हेल्प डेस्क से लगातार जागरूक किया जाता रहे और प्रत्येक व्यक्ति की थर्मल स्कैनिंग, पल्स ऑक्सीमीटर से उनकी जांच होती रहे। उन्होंने निर्देशित करते हुए कहा कि जो भी टीम घर-घर जा रही है सभी टीमों के पास थर्मल स्कैनर, पल्स ऑक्सीमीटर हो तथा जिन भी लोगों का सर्वे उनके द्वारा किया जा रहा है पूरा डाटा कलेक्ट कर अपने नोडल अधिकारी को सूचित करें। निरीक्षण के दौरान टीम को यह सुनिश्चित करना है कि गंभीर बीमारी से ग्रसित लोग, खासी, जुखाम, बुखार आदि के लक्षण वाले लोगों के नाम, उनका मोबाइल नंबर, पता अवश्य लिखा जाए, ताकि उसकी ट्रेसिंग आसानी से की जा सके। उन्होंने निर्देशित करते हुए कहा कि दस्तक अभियान के तहत जो भी टीम गांवों में साफ सफाई जागरूकता हेतु की जा रही है वह लोगों को अपने घर के आस-पास सफाई रखने, गंदा पानी इकट्ठा ना होने के विषय में तथा कोरोना महामारी से बचाव हेतु जानकारी अवश्य दे। इसके साथ ही गांवों में कीटनाशक दवाओं का भी छिड़काव हो यह सुनिश्चित किया जाए। यहां के बाद जिलाधिकारी चौबेपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का भी निरीक्षण किया। उन्होंने निर्देशित करते हुए कहा कि ज्यादा से ज्यादा लोगों का कोविड सैम्पल लिया और इलाज में मरीजों के साथ किसी भी प्रकार की लापरवाही न बरती जाये। इस दौरान मुख्य चिकित्साधिकारी डा. अनिल कुमार मिश्र भी मौजूद रहें। हिन्दुस्थान समाचार/अजय/दीपक-hindusthansamachar.in