Congressmen celebrate the 132nd birth anniversary of Dr. Vrindavan Lal Verma
Congressmen celebrate the 132nd birth anniversary of Dr. Vrindavan Lal Verma
उत्तर-प्रदेश

कांग्रेसियों ने मनाई डा. वृन्दावन लाल वर्मा की 132वीं जयंती

news

झांसी, 09 जनवरी (हि.स.)। राष्ट्र गौरव स्मृति संस्थान के तत्वाधान में शनिवार को अमीर चंद आर्य की अध्यक्षता में उपन्यास सम्राट, पद्मभूषण डॉ वृंदावन लाल वर्मा जी की 132वीं जयंती मनाई गई। इस अवसर पर वृंदावनलाल वर्मा पार्क में उनकी प्रतिमा के समक्ष पुष्पांजलि अर्पित करते हुए वक्ताओं ने अपने विचार व्यक्त किए। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी पिछड़ा वर्ग के उपाध्यक्ष मनीराम कुशवाहा ने आयोजित गोष्ठी को संबोधित करते हुए कहा कि डा. वृंदावन लाल वर्मा एक विख्यात साहित्यकार और उपन्यासकार थे। उन्होंने अपने ऐतिहासिक उपन्यासों और साहित्य सृजन के माध्यम से बुंदेलखंड की पहचान संपूर्ण विश्व में स्थापित की। वीरांगना महारानी लक्ष्मीबाई के जीवन चरित्र को झांसी की रानी लक्ष्मीबाई उपन्यास के जरिए सहज एवं सरल भाषा में जन-जन तक पहुंचाया तथा उन्होंने बुंदेलखंड की कला संस्कृति और जनजीवन का सजीव चित्रण किया। हमें उनके साहित्य से प्रेरणा लेनी चाहिए। इस अवसर पर अध्यक्षता करते हुए अमीरचंद आर्य ने कहा कि वृंदावन लाल वर्मा नया अपनी लेखनी में सदैव नारी शक्ति को सम्मान प्रदान किया। उन्होंने झांसी की रानी लक्ष्मीबाई उपन्यास के माध्यम से वीरांगना लक्ष्मीबाई की गौरव गाथा को प्रचारित किया साथ ही वीरांगना झलकारी बाई के जीवन चरित्र को सर्वप्रथम समाज के समक्ष रखा। साहित्य जगत हमेशा उनका ऋणी रहेगा। कार्यक्रम के दौरान वृंदावन लाल वर्मा के प्रपौत्र मधुर वर्मा, मनोज तिवारी, मुन्नी अहिरवार, मनसूर अली, रशीद मंसूरी, विक्की वर्मा, नईद अहमद आदि उपस्थित रहे। गोष्ठी का संचालन ऋषभ साहू ने तथा आभार मनोज तिवारी ने व्यक्त किया। हिन्दुस्थान समाचार/महेश-hindusthansamachar.in