डॉ. कफील की रिहाई के लिए कांग्रेस अल्पसंख्यक विभाग का मजारों पर चादरपोशी कार्यक्रम स्थगित
डॉ. कफील की रिहाई के लिए कांग्रेस अल्पसंख्यक विभाग का मजारों पर चादरपोशी कार्यक्रम स्थगित
उत्तर-प्रदेश

डॉ. कफील की रिहाई के लिए कांग्रेस अल्पसंख्यक विभाग का मजारों पर चादरपोशी कार्यक्रम स्थगित

news

-कोरोना के चलते प्रियंका गांधी ने दिया कार्यक्रम स्थगित करने का निर्देश लखनऊ, 31 जुलाई (हि.स.)। डॉक्टर कफील की रिहाई की मांग को लेकर कांग्रेस का मजारों पर चारदपोशी कार्यक्रम पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा के निर्देश पर स्थगित कर दिया गया है। उप्र कांग्रेस अल्पसंख्यक विभाग के प्रदेश चेयरमैन शाहनवाज आलम ने शुक्रवार को बताया कि हमने 22 जुलाई से 12 अगस्त तक डॉक्टर कफील की रिहाई की मांग को लेकर महाभियान छेड़ रखा है। इसके प्रथम चरण में प्रदेशव्यापी हस्ताक्षर अभियान चलाया गया, जिसे जनता का जबरदस्त समर्थन मिला और लाखों लोगों ने हस्ताक्षर कर डॉक्टर कफील की रिहाई की मांग की है। शाहनवाज आलम ने बताया कि डॉक्टर कफील की रिहाई के लिए अब 6 अगस्त को मजारों पर चादर पोशी का कार्यक्रम होना था। लेकि, प्रियंका गांधी के निर्देश पर कोरोना महामारी को देखते हुए यह कार्यक्रम स्थगित कर दिया गया है, जिससे मजारों एवं दरगाहों पर आने वाले जायरीनों को कोई दिक्कत नहीं हो। उन्होंने बताया कि डॉक्टर कफील की रिहाई की मांग को लेकर पार्टी के अन्य कार्यक्रम पहले से तय तारीखों पर संपन्न होंगे। प्रियंका गांधी वाड्रा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिख डॉ. कफील की रिहाई की मांग भी कर चुकी हैं। उन्होंने गुरुवार को लिखे अपने पत्र में कहा कि डॉ. कफील अब तक लगभग 450 से ज्यादा दिन जेल में गुजार चुके हैं। उन्होंने कठिन परिसिथतियों में निस्वार्थ भाव से लोगों से लोगों की सेवा की है। उन्होंने मुख्यमंत्री से संवेदनशीलता का परिचय देते हुए डॉ. कफील को न्याय दिलवाने की अपील भी की। डॉक्टर कफील को बीते नागरिकता संशोधन एक्ट (सीएए) के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान में कथित तौर पर भड़काऊ भाषण देने के मामले में गिरफ्तार किया गया था और वह तभी से जेल में हैं। हिन्दुस्थान समाचार/संजय/राजेश-hindusthansamachar.in