commissioner-system-is-not-in-awe-among-the-new-youth-four-youth-scooting-the-scooters-are-flying-the-rules
commissioner-system-is-not-in-awe-among-the-new-youth-four-youth-scooting-the-scooters-are-flying-the-rules
उत्तर-प्रदेश

कमिश्नर प्रणाली का नव युवकों में नहीं दिख रहा खौफ, स्कूटी सवार चार युवक नियमों की उड़ा रहे धज्जियां

news

कानपुर, 06 अप्रैल (हि.स.)। कानपुर में कमिश्नरेट प्रणाली होने के बाद शहरवासी जनपद में कई बदलाव की उम्मीद कर रहे हैं। कमिश्नर प्रणाली के चलते पुलिस कर्मियों की प्राथमिकता यातायात सुगम, और व्यवस्थित बनाने की है। इसको लेकर सख्ती से नियमों का पालन कराने के साथ वाहन चालकों को जागरूक करने का भी प्रयास तेजी से किया जाएगा। लेकिन अभी भी जनपद में वाहन चालने वालों में नई प्रणाली का कोई असर नहीं दिख रहा है। अभी भी कुछ लोग यातायात नियमों की धज्जियां उड़ा रहे हैं। जनपद की यह तस्वीर साफ यही बयां कर रही है। लखनऊ के बाद कानपुर में भी कमिश्नर प्रणाली लागू कर दी गई है। कमिश्नरेट के आने के बाद जनपद में पुलिस विभाग में खासा बदलाव देखने को मिलने लगा है। ऐसे कयास लगाए जा रहे हैं इस प्रणाली के जनपद में लागू होने से अपराध पर लगाम और व्यवस्थित यातायात जनता को मिलने वाला है। अफसरों ने इसकी शुरुआत भी यातयात सुधारने से कर भी दी है और चौराहों पर पुलिस बल और दिखने लगा है। हालांकि तमाम व्यवस्था के बावजूद कुछ नव युवक अपनी जान जोखिम में डालकर यातयात नियमों का पालन तो तोड़ ही रहे हैं, वहीं एक स्कूटी में बिना हेलमेट चार लोग सवार होकर पुलिस को साफ चुनौती देते भी नजर आ रहे हैं। मित्र पुलिस का डर इन नव युवकों में देखने को नहीं मिल रहा है। कमिश्नरेट लागू होने के बाद पुलिस के आलाधिकारियों द्वारा पत्रकारों के साथ हुई वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में भी जब 'हिन्दुस्थान समाचार' के संवाददाता ने यातायात पर सवाल पूछा गया तो अधिकारियों ने यातायात नियमों को प्राथमिकता से पालन कराने की बात कही थी। वहीं कल्यानपुर के पनकी रोड पर दिखने वाली यह तस्वीर कुछ और ही बयां कर रही है। अभिवावकों से अपील 'हिन्दुस्थान समाचार' सभी अभिवावकों से अपील करता है कि वह अपने बच्चों को यातायात नियमों के बारे में बताएं। घर से निकलते ही हेलमेट लगाने को जरूर कहें। लगातार अपने बच्चों को एक गाड़ी में दो ही लोग सवार होने की बात समझाएं। पुलिस अपना काम कर रही है पर आपका भी उतना ही दायित्व है। हिन्दुस्थान समाचार/अवनीश