child-vishal39s-killer-turned-out-to-be-neighbor-greedily-executed-the-incident
child-vishal39s-killer-turned-out-to-be-neighbor-greedily-executed-the-incident
उत्तर-प्रदेश

बालक विशाल का हत्यारोपी पड़ोसी निकला, लालच में दिया था घटना को अंजाम

news

वाराणसी,07 फरवरी (हि.स.) । सारनाथ थाना क्षेत्र के पैगम्बरपुर इलाके में पिछले दिनों हुई 09 वर्षीय बालक विशाल की हत्या मामले का पर्दाफाश रविवार को पुलिस ने कर दिया। घटना स्थल के आस.पास सीसीटीवी कैमरों की रिकार्डिंग के जरिये पुलिस टीम को सफलता मिली। एसएसपी अमित पाठक ने गिरफ्तार आरोपी धर्मेंद्र को मीडिया के सामने पेश कर घटना की सिलसिलेवार जानकारी दी। उन्होंने बताया कि सीसीटीवी कैमरों की रिकार्डिंग को देखने के दौरान बच्चे को साथ लेकर एक व्यक्ति कमरे में जाता दिखा। पूछताछ और छानबीन में उसकी पहचान धर्मेंद्र पुत्र छविनाथ के रूप में हुई। पहचान होने के बाद पुलिस टीम उसकी तलाश में जुट गई। सही सूचना मिलने पर आज सुबह आरोपी को पुलिस टीम ने नक्खीघाट पुल के पास से दबोच लिया। पूछताछ में आरोपी ने अपना गुनाह स्वीकार कर लिया। आरोपी धर्मेन्द्र ने बताया कि पड़ोस में रहने के कारण बच्चा विशाल उससे घुला मिला था। उसके घर आना-जाना भी रहा। आरोपी के अनुसार कर्ज में लिया गया रूपया वह जुएं में हार गया। इस वजह से वह काफी परेशान रहता था। बालक के पिता मंजय के द्वारा पीएम आवास योजना में मिले धन से मकान बनवाने के बाद धर्मेन्द्र को लगता था कि उसके पास काफी पैसा है। उसने बच्चे के अपहरण की योजना बनाकर धन वसूलने के लिए पुरी तैयारी कर ली। योजनानुसार वह मंजय के घर पहुंचा। उस समय बच्चे की मां और अन्य परिजन रिश्तेदारी में गये हुए थे। यह देख धर्मेन्द्र ने बच्चे विशाल को पतंग दिलाने के बहाने नजदीक के बीएस स्कूल के पास बुलाया। इसके बाद बच्चे को लेकर स्कूल के पीछे प्लाट पर गया और झाड़ियों में ले जाकर बच्चे का गला दबाकर हत्या कर दी। इसके बाद वापस लौट बाया। तब तक बच्चे के परिजन उसे घर में न देख परेशान होकर ढूंढ रहे थे। लोगों को शक न हो धर्मेन्द्र भी सहानुभूति जता परिजनों के साथ मिलकर बच्चे की तलाश करने में लगा रहा। उस पर किसी को शक न हो इसलिए अगले दिन शाम को उसने 50 हजार रुपये की फिरौती की मांग वाली एक चिट्ठी लिखकर बच्चे के घर के सामने फेंक दी।जिसमें लड़के के बदले रुपये लेकर चौबेपुर रोड पर आने व न आने पर लड़के को मार देने की बात कही गई थी। एसएसपी ने बताया कि आरोपित के निशानदेही पर घटना के समय पहने हुये कपड़े, चिट्ठी लिखकर मृतक के घर पर रखी गयी थी उस कागज का दूसरा टुकड़ा जिस पर एक बैंक का नाम व मोनोग्राम बना हुआ था तथा पेन बरामद बरामद कर लिया गया। हिन्दुस्थान समाचार/श्रीधर-hindusthansamachar.in