मुख्यमंत्री ने हमीरपुर के 8544 श्रमिकों के खाते में भेजी 85.44 लाख की सहायता राशि

मुख्यमंत्री ने हमीरपुर के 8544 श्रमिकों के खाते में भेजी 85.44 लाख की सहायता राशि
chief-minister-sent-assistance-amount-of-8544-lakh-to-the-account-of-8544-workers-of-hamirpur

- मुख्यमंत्री वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से की बात, श्रमिकों से अपना श्रम विभाग में पंजीयन अनिवार्य कराने की की अपील हमीरपुर, 09 जून (हि.स.)। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने श्रम को सम्मान और संबल प्रदान करने के लिए प्रदेश के 23 लाख निर्माण श्रमिकों को 230 करोड़ रुपये की धनराशि उनके खातों में आनलाइन डीबीटी के माध्यम से अन्तरित किया, प्रत्येक श्रमिक के खाते में 1000 रुपये प्राप्त हुए है। जनपद हमीरपुर में 8544 श्रमिकों को रुपये 1000 की दर से कुल 85.44 लाख रुपये की सहायता राशि डीबीटी के माध्यम से उनके खातों में प्राप्त हुयी है। ज्ञात हो कि, जनपद हमीरपुर में कुल 36,000 पंजीकृत निर्माण श्रमिक है जिनमें से 8544 श्रमिकों का डाटा सत्यापित हो चुका है तथा उनको आज इस योजना के तहत लाभान्वित किया जा चुका है, शेष श्रमिकों का भी डाटा सत्यापन होने के बाद इस योजना से लाभान्वित किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री के आह्रवान पर आत्मनिर्भर भारत बनाने में श्रमिको का महत्वपूर्ण योगदान है। उन्होंने कहा कि सामूहिक प्रयास से हमने कोरोना को रोका है। उन्होंने कहा कि पिछले साल कोरोना के दौरान 40 लाख प्रवासी प्रदेश में आये, जिनके इलाज, ठहरने, भोजन की व्यवस्था के साथ-साथ निशुल्क खाद्यान्न, भरण-पोषण भत्ता के रूप में सहायता राशि प्रदान की गयी। प्रत्येक गरीब श्रमिक एवं अन्य लोगों को 15 दिन के भीतर राशन कार्ड बनाकर दिया गया। इस राशन कार्ड पर नेशनल पोर्टेबिलिटी की सुविधा भी दी गयी ताकि उसको भारत में कही भी निशुल्क खाद्यान्न प्राप्त हो सके। उन्होंने कहा कि कोरोना कर्फ्यू के दौरान खेती-किसानी, औद्योगिक गतिविधियों को खोलकर श्रमिकों को राहत देने का कार्य किया गया तथाा कोविडकॉल में श्रमिकों की वजह से निर्माण कार्यों में एक कीर्तिमान स्थापित हुआ। कहा कि प्रत्येक कार्य स्थल पर कोविड प्रोटोकाल का पालन करना अनिवार्य है। कोरोना अभी खत्म नहीं हुआ है और हमे नियमित रूप से मास्क लगाने, हाथ धोने तथा सामाजिक दूरी बनाये रखना होगा। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने जनपद हमीरपुर के बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे में कार्य करने वाले श्रमिक अतुल खरे से वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से बात की तथा बातचीत के दौरान श्रमिक द्वारा श्रम विभाग में अपना पंजीयन 2017 में कराने के बाद श्रम विभाग की चिकित्सा सुविधा, शिक्षा सहायता सहित अन्य योजनाओं का लाभ लिए जाने की बात बताए जाने पर मुख्यमंत्री ने प्रसन्नता व्यक्त की तथा उन्होंने श्रमिक अतुल खरे से अपने अन्य श्रमिक बंधुओं का भी अनिवार्य रूप से श्रम विभाग में पंजीयन कराकर श्रम विभाग की योजनाओं का लाभ दिलाने की अपील की। उन्होंने कहा कि एक छोटे से पंजीयन कराने मात्र से श्रमिक बंधुओं को विभिन्न योजनाओं के अंतर्गत लाखों रुपए का लाभ मिलता है, इससे श्रमिक जो कि अंतिम पायदान पर खड़े व्यक्ति के रूप में माना जाता है, को मुख्यधारा में लाने में सहायता मिलती है। जनपद हमीरपुर में यह कार्यक्रम बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे के पैकेज नंबर तीन के मुख्य सेतु में जखेड़ी ग्राम के पास आयोजित किया गया। उन्होंने उ०प्र० राज्य सामाजिक सुरक्षा बोर्ड में असंगठित क्षेत्र के कामगारों के पंजीकरण के लिए पोर्टल का शुभारम्भ भी किया। प्रदेश के श्रम एंव सेवायोजन मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य ने सभी का स्वागत करते हुए विभागीय योजनाओं की जानकारी दिया। श्रम एंव सेवायोजन राज्य मंत्री मनोहर लाल (मन्नू कोरी) ने सभी के प्रति धन्यवाद ज्ञापित किया। जनपद हमीरपुर के इस कार्यक्रम में राठ विधायिका मनीषा अनुरागी, जिलाधिकारी डॉ ज्ञानेश्वर त्रिपाठी, उप जिलाधिकारी राठ अशोक कुमार यादव, श्रम प्रवर्तन अधिकारी अरुण कुमार तिवारी, यूपीडा के अधिकारी, श्रमिक बंधु तथा अन्य संबंधित मौजूद रहे। हिन्दुस्थान समाचार/ पंकज