चैत्र नवरात्र : घरों में मां ब्रह्माचारिणी की पूजा कर भक्तों ने मांगा आशीर्वाद, मंदिरों की रौनक रही फीकी

चैत्र नवरात्र : घरों में मां ब्रह्माचारिणी की पूजा कर भक्तों  ने मांगा आशीर्वाद, मंदिरों की रौनक रही फीकी
chaitra-navratri-devotees-sought-blessings-by-worshiping-mother-brahmacharini-in-homes-temples-shining

कानपुर, 14 अप्रैल (हि.स.)। चैत्र नवरात्र के दूसरे दिन घरों में मां ब्रह्माचारिणी माता की पूजा अर्चना हुई तो वहीं मंदिर में कोरोना गाइड लाइन का पालन कराते हुए भक्तों को प्रवेश दिया गया। तपेश्वरी व बुद्धा माता के मंदिर में भी कोरोना का असर देखने को मिला। भक्तों की माने तो इस बार नवरात्र पर्व में कोरोना का असर साफ दिखाई दे रहा है। हटिया स्थित बुद्धा देवी मंदिर के पुजारी ने बताया कि मंदिर परिसर में आने वाले हर भक्त व मंदिर कर्मचारी को भी मास्क लगाकर ही प्रवेश दिया जा रहा है। क्योंकि जिस प्रकार से जनपद में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में इजाफा हो रहा है उसको देखते हुए दर्शन के लिए भक्तों में कमी आई हैं। पुजारी ने बताया कि बुद्धा देवी मंदिर कई वर्षों पुरानी सिद्ध पीठ है। यहां कि मान्यता है कि जो भक्त माता के श्री चरणों में शीश झुका कर मन्नत मांगता है वो जल्दी ही पूर्ण हो जाती है। बिरहाना रोड स्थित तपेश्वरी मंदिर के पुजारी नरेश का कहना है कि कोरोना के चलते इस बार भक्तों की भीड़ न के बराबर हो रही है। बीते वर्षों में मंदिर में इतनी भीड़ हो जाती थी कि उनका संभाल पाना मुश्किल होता था। लेकिन कोरोना संक्रमण में सब जगह लोगों को थाम सा दिया है। पुजारी ने लोगों को ये संदेश भी दिया कि जरूरत पड़ने पर ही घरों से निकले अन्यथा घर में ही रहकर प्रभु की आराधना कर कोरोना संक्रमण से मुक्ति की प्रार्थना करें। नौबस्ता निवासी प्रभा शुक्ला ने बताया कि कोरोना संक्रमण का हम पूरी तरह से ध्यान रखते हुए। घरों में ही रहकर पूजा अर्चना कर रहे हैं। क्योंकि कोरोना संक्रमण तेजी के साथ पैर पसार रहा है। जिसकी वजह से हम मंदिरों में दर्शन करने नहीं जा पा रहे है। हिन्दुस्थान समाचार/हिमांशु