बाबा साहब के सपनों को साकार कर रही केन्द्र व प्रदेश सरकार की योजनाएं : योगी

बाबा साहब के सपनों को साकार कर रही केन्द्र व प्रदेश सरकार की योजनाएं : योगी
central-and-state-government-schemes-realizing-baba-saheb39s-dreams-yogi

लखनऊ, 14 अप्रैल (हि.स.)। बाबा साहेब डॉ. भीमराव आंबेडकर की जयंती पर एक कार्यक्रम को वर्चुअल संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यानाथ ने कहा कि केन्द्र व प्रदेश सरकार की योजनाएं उनके सपनों को साकार कर रही हैं। बाबा साहब सबको शिक्षा मिले, इसके पक्षधर थे। कोई भी शिक्षा से वंचित न रहे, उनका स्वप्न था। उसे केन्द्र की मदद से प्रदेश सरकार पूरा करने के लिए कृतसंकल्पित है। इसके पूर्व उन्होंने कहाकि भारत के संविधान के शिल्पी, भारत माता के महान सपूत बाबा साहब डॉ.भीम राव आंबेडकर जी का आज पावन जयंती का दिन है। इस महापुरुष के प्रति अपनी विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित करने के लिए स्वाभाविक रुप से सभी अनुयायी उतावले हैं। मैं प्रदेश शासन की ओर से बाबा साहब की स्मृतियों को नमन करते हुए उन्हें विनम्र श्रद्धाजंलि अर्पित करता हूं। उन्होंने कहा कि अम्बेडकर महासभा बाबा साहब के सपनों को पूरा करने के निरंतर कार्य कर रही है। बाबा साहब की जयंती हो या फिर पुण्य तिथि। दोनों अवसरों पर अम्बेडकर महासभा द्वारा न केवल बाबा साहब के स्मृतियों को जीवंत रखा जाता है बल्कि बाबा साहब के बताए गए आदर्शों के अनरुप अनेक कार्यक्रम रखे जाते हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्तमान में पूरी दुनिया कोरोना महामारी से त्रस्त है। कोरोना संक्रमण की तीव्रता को ध्यान में रखते हुए अम्बेडकर महासभा ने यह कार्यक्रम वर्चुअली रखा। इसके लिए हृदय से धन्यवाद देता हूं कि उन्होंने बाबा साहब की स्मृतियों को याद किया। साथ ही साथ सभी प्रकार की सोशल डिस्टेसिंग के कोविड लाइन का पालन करते हुए संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिए हर संभव प्रयास कर रहे हैं। कहाकि वास्तव में बाबा साहब डॉ.भीमराव आंबेडकर जी भारत के संविधान के शिल्पी थे। समता, न्याय और बंधुता जिस भारत के संविधान के मूलभूत तत्व है। उन तत्वों को भारत के प्रत्येक नागरिक को सर्वसुलभ कराने के लिए पौने सात वर्ष से प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में भारत की सरकार और पिछले चार साल से प्रदेश सरकार काम कर रही है। बिना भेदभाव के हर नागरिक को घर मिलना, प्रत्येक नागरिक के घर में शौचालय की सुविधा उपलब्ध होना, विद्युत की आवश्यकता की पूर्ति होना, प्रत्येक नागरिक को उसके स्वास्थ्य बीमा का कवर मिलना, राशन की सुविधा मिलना। ये सभी कहीं न कहीं बाबा साहब के सपनों को साकार करने का एक अभियान है। जिन्होंने इस देश के अंदर जब देश आजादी की लड़ाई लड़ रहा था तब उस समय महसूस किया था। विगत चार वर्षों की हमारी सरकार ने भारत सरकार के सहयोग से लोगों को आवास उपलब्ध करवाये। दो करोड़, 61 लाख से अधिक गरीबों को शौचालय, एक करोड़, 57 लाख लोगों को रसोई गैस, 01 करोड़, 38 लाख लोगों विद्युत के नये कनेक्शन, 14 करोड़ लोगों को राशन की सुविधा, 6 करोड़ लोगों को आयुष्मान भारत में स्वास्थ्य बीमा कवर दिया गया है। ये सभी बाबा साहब के सपनों को सकार करने का एक अभियान है। बताया कि प्रदेश के अंदर 18 कमिश्नरी में अटल आवासीय विद्यालय बाबा साहब के सपने को सकार करने एक भाव है, जिसमें गरीब और मजलुम बच्चों के लिए भी अत्याधुनिक शिक्षा के आवासीय विद्यालय उपलब्ध कराने का एक कार्यक्रम प्रदेश सरकार द्वारा किया जा रहा है। सामूहिक विवाह के कार्यकम व्यापक पैमाने पर प्रदेश के अंदर बिना भेदभाव के सम्पन्न हो रहे हैं। लेकिन इन सबके बावजूद अभी एक लम्बी लड़ाई आगे बढ़ाने की आवश्यक्ता है। व्यापक जागरुकता की जरूरत है। शिक्षा के क्षेत्र में अभी बहुत कुछ किए जाने की आवश्यकता है। बाबा साहब ने सदैव शिक्षा पर ध्यान दिया। उन्होंने हमेशा भारत के वंचितों, गरीबों, दलितों को सबको एक ही बात के लिए आवाह्न किया कि अपनी पीढ़ी को शिक्षा से वंचित न करें। उन्हें स्कूल जरुर भेंजे, अच्छी शिक्षा दिलाएं। सरकार इस दिशा में प्रयास कर रही है। हर एक स्तर पर इस प्रयास को आगे बढ़ाए जाने की आवश्यकता है। बाबा साहब के इन सपनों को सकार करने के लिए सभी स्तर पर एक प्रयास की आवश्यकता है। प्रदेश सरकार पूरी प्रतिबद्धता के साथ इन सब कार्यों को भारत सरकार के साथ मिलकर लागू कर रही है। कहाकि अम्बेडकर महासभा इस दिशा में अच्छा कार्य कर रही है। कोविड-19 के प्रोटोकाल का भी पालन कर रही है। साथ-साथ गरीबों, वंचितों और दलितों के लिए जिनको शासन की सुविधा से वंचित रखा गया, उन्हें इन सुविधाओं से लाभान्वित करने का एक नया प्रयास भी कर रही है। कहा, प्रति वर्ष मुझे आंबेडकर महासभा द्वारा आयोजित समारोह में भागीदारी होने का अवसर मिलता था। इस बार और विगत लॉकडाउन के कारण और कोरोना की तीव्र संक्रमण के कारण यह संभव नहीं हो पा रहा है। लेकिन इस अवसर पर अम्बेडकर महासभा द्वारा चलाये जा रहे अभियान की सराहना करता हूं और विश्वास करता हूं कि हम सब मिलकर भारत के संविधान के शिल्पी बाबा साहब के सपनों को सकार करेंगे, जो भारत के प्रत्येक नगारिक के लिए जरुरी है। हिन्दुस्थान समाचार/दीपक