मच्छर पनपने वाले जल पात्रों को नष्ट कर मनाएं मलेरिया रोधी माह

 मच्छर पनपने वाले जल पात्रों को नष्ट कर मनाएं मलेरिया रोधी माह
celebrate-anti-malarial-month-by-destroying-mosquito-breeding-water-vessels

बहराइच, 01 जून (हि. स.)। स्वास्थ्य विभाग की ओर से जिले में मलेरिया रोधी अभियान चलाया जाएगा। इसके लिए लोगों को मच्छर पनपने वाले जल पात्रों को नष्ट करने की जानकारी दी है। साथ ही सीएमओ ने सीएचसी अधीक्षकों को मलेरिया स्लाइड बनवाने के निर्देश दिए हैं। जिससे संक्रमितों की पहचान कर इलाज किया जा सके। स्वास्थ्य विभाग की ओर से आज से जिले भर में मलेरिया रोधी माह मनाया जाएगा। अभियान 30 जून तक चलेगा। इस दौरान जन समुदाय को जागरूक करने के साथ ही स्वास्थ्य विभाग द्वारा हर रविवार मच्छर पर वार कार्यक्रम भी चलाया जाएगा। मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. राजेश मोहन श्रीवास्तव ने बताया कि बारिश शुरू होते ही मच्छरों का प्रकोप बढ़ जाता है। मच्छरों के प्रकोप से मलेरिया, डेंगू की बीमारी बढ़ जाती है। ऐसे में जिनके आसपास पानी भरा है, उस पानी को हटा दें। क्योंकि मच्छर पानी के अंदर ही अंडा देते हैं। अंडे से लार्वा निकलता है। इससे मच्छर का निर्माण होता है। जो इंसान के अंदर डेंगू, चिकनगुनिया और मलेरिया जैसी बीमारी को बढ़ावा देते हैं। सीएमओ ने बताया कि इसके त्वरित उपचार के लिए आशा और एएनएम को जिम्मेदारी सौंपी गई है। साथ ही सीएचसी अधीक्षकों को स्लाइड बनाने के निर्देश दिए हैं। मुख्य चिकित्साधिकारी ने बताया कि अभियान के दौरान गांवों में जाकर स्वास्थ्य टीम द्वारा लोगों को डेंगू और मलेरिया जैसी बीमारियों से बचने के उपाय भी बताए जाएंगे। ग्रामीण इससे करें परहेज- - घर में मच्छर जनित परिस्थितियां न पैदा होने दें - नारियल के खोल, प्लास्टिक के बोतल, मिट्टी के बर्तन में पानी न भरा रखें - गमलों का पानी, कूलर और फ्रिज के पीछे का टैंक हर सप्ताह बदलें - आसपास सफाई रखें, नालियों में पानी न जमा होने दें - फुल आस्तीन का पकड़ा पहनने के साथ मच्छरदानी का प्रयोग करें मलेरिया के लक्षण अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. जयंत ने बताया कि मलेरिया बीमारी में जाड़ा या कंपकंपी की शिकायत होती है। ठंड के साथ तेज बुखार आता है और पसीने के साथ बुखार उतरता है। बुखार से तीन से चार घंटे रहता है और मरीज को खाना खाने के बाद जी मिचलाना, भूख कम लगना, सिर व बदन दर्द के साथ उल्टी होने पर मलेरिया बीमारी का लक्षण है। तुरंत चिकित्सकों को दिखाकर इलाज शुरू करें। हिन्दुस्थान समाचार / राहुल

अन्य खबरें

No stories found.