भाप्रपा ने मंहगाई के देवता की पूजा कर मांगी मंहगाई से रहम की भीख

भाप्रपा ने मंहगाई के देवता की पूजा कर मांगी मंहगाई से रहम की भीख
bhapra-worshiped-the-god-of-inflation-and-begged-for-mercy-from-inflation

झांसी, 08 जून(हि.स.)। मंहगाई की मार ने लोगों की रसोई को हिला कर दिया, वही पेट्रोल-डीजल के दामों में लगातार हो रही वृद्धि भी लोगों की परेशानी में चार चांद लगा रही है। मंगलवार को भारतीय प्रजाशक्ति पार्टी ने मंहगाई का अनोखे तरीके से विरोध करते हुए इलाईट चौराहे पर मंहगाई के देवता देश के प्रधानमंत्री की विधिवत पूजा-अर्चना कर मंहगाई से रहम की भीख मांगी। पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष पकंज रावत के नेतृत्व कार्यकताओं ने मंहगाई के देवता प्रधानमंत्री को मानते हुए उनके चित्र पर फूलमाला अर्पित की साथ ही आरती करते हुए प्रसाद के भोग में मूंग, उड़द व अरहर की दाल आदि के साथ सरसों का तेल रिफाइंड तेल अर्पित किया। इसके बाद पेट्रोल और डीजल का विशेष भोग अर्पित किया गया। इस अवसर पर पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने एक नारे को दोहराया कि ‘‘बहुत हुई मंहगाई की मार अबकी बार नहीं चाहिए मोदी सरकार’ अध्यक्ष पंडित पंकज रावत ने कहा कि अब कोरोना बीमारी से ज्यादा मंहगाई गरीब और मध्यम वर्ग की जनता को डरा रही है। मंहगाई के सारे रिकॉर्ड टूट चुके हैं सरकार मंहगाई कंट्रोल करने में अक्षम सिद्ध हुई है। रावत ने सरकार को आगाह किया कि यदि उद्योगपति को लाभ पहुंचाना बन्द नहीं किया तो जनता सड़कों पर उतरने के लिए बाध्य होगी। इस अवसर पर धरन शर्मा, राजेश तिवारी, जयकिशन गोस्वामी, अमित यादव, शशांक उपाध्याय, आनंद मुदगल, राधारमण उपाध्याय आदि उपस्थित रहे। हिन्दुस्थान समाचार/महेश