अयोध्या : पांच अगस्त को एक जगह नहीं जुट सकेंगे पांच से अधिक लोग
अयोध्या : पांच अगस्त को एक जगह नहीं जुट सकेंगे पांच से अधिक लोग
उत्तर-प्रदेश

अयोध्या : पांच अगस्त को एक जगह नहीं जुट सकेंगे पांच से अधिक लोग

news

अयोध्या, 02 अगस्त (हि.स.)। श्रीराम जन्मभूमि मंदिर निर्माण शुरू होने के पूर्व भूमि पूजन के लिए 05 अगस्त को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अयोध्या आने वाले हैं। तैयारियां जोरों पर हैं। धर्मनगरी अयोध्या को भगवान विष्णु को प्रिय पीले रंग में अयोध्या की रंगाई-पुताई करवाने के बाद अब सफाई की जा रही है। स्वच्छता अभियान चल रहा है। रामनगरी में सभी मुहल्लों की गली-गली को सेनेटाइज करने का कार्य शुरू है। कोरोना वायरस के खतरे की वजह से आवासीय कालोनियों का विशेष ध्यान रखा जा रहा है। प्रोटोकॉल के मुताबिक 05 अगस्त को होने वाले भूमि पूजन कार्यक्रम के दौरान अयोध्या में सुरक्षा व्यवस्था चौकस रहेगी। इस दिन अयोध्या परिक्षेत्र में किसी भी स्थान पर एक साथ पांच से अधिक लोगों के जुटने की पाबंदी रहेगी। बता दें कि पीएम मोदी के अयोध्या दौरे को लेकर प्रशासन अनेक तरह के प्रोटोकॉल का पालन कर रहा है। पहला प्रोटोकॉल कोरोना वायरस को लेकर है। प्रशासन का इस पर पूरा फोकस है। बोले डीआईजी डीआईजी दीपक कुमार ने बताया कि प्रधानमंत्री मोदी की सुरक्षा को लेकर प्रमुख सुरक्षा एजेंसियों के साथ बैठक हुई है। सुरक्षा बंदोबस्त के सभी मानक पूरे किए जा रहे हैं। कोरोना प्रोटोकॉल को लेकर अयोध्या में 05 अगस्त को एक साथ एक जगह 05 से अधिक लोगों के जुटने पर पाबंदी रहेगी। ज्ञातव्य हो कि पांच अगस्त के प्रधानमंत्री मोदी के आगमन को लेकर एसपीजी भी अयोध्या पहुंच चुकी है। अब एसपीजी द्वारा सुरक्षा का खाका खींचा जा रहा है। जन्मभूमि परिसर में बना कोविड-19 हेल्प डेस्क प्रधानमंत्री मोदी के कार्यक्रम के मद्देनजर श्रीराम जन्मभूमि परिसर में कोविड हेल्प डेस्क भी बनाया गया है। इस काउंटर पर स्वास्थ्य कर्मी की ड्यूटी के साथ थर्मल स्कैनर, थर्मामीटर, पल्स-आक्सीमीटर जैसे स्वास्थ्य उपकार मौजूद रहेंगे। यहां एवीमेक्टिन टेबलेट भी रखवाया जा रहा है। क्या है 'एवीमेक्टिन टेबकेट' एवीमेक्टिन टेबलेट एण्टी वायरल है। यह इंफेक्शन को दूर करने के लिए है। पांच अगस्त के भूमि पूजन में आने वाले लोगों की थर्मल स्क्रीनिंग होगी। पल्स व ऑक्सीजन लेवल की जांच होगी। जरूरत के मुताबिक जरूरतमंद को एण्टी वायरल टेबलेट उपलब्ध कराई जाएगी। अभी स्वास्थ्य विभाग की अलग-अलग टीमें श्रीराम जन्मभूमि परिसर को सेनेटाइज कर रही हैं। तीन अगस्त से बाहरी लोगों के प्रवेश पर पूर्णतः प्रतिबंध तीन अगस्त के बाद अयोध्या में बाहरी व्यक्तियों का प्रवेश प्रतिबंधित कर दिया गया है। इसके लिए अयोध्या के सभी बैरियर, मोर्चों व बार्डर चौकियों पर पुलिस फोर्स की तैनाती कर दी गई है। बाहरी वाहनों व रोडवेज बसों की भी चेकिंग की जा रही है। यात्रियों के परिचय पत्र भी देखे जा रहे हैं। सख्ती का अंदाजा इस बात से भी लगाया जा सकता है कि अयोध्या सिटी सर्किल में भी प्रवेश करने वालों की जांच शुरू है। हिन्दुस्थान समाचार/आमोद/राजेश-hindusthansamachar.in