australian-high-commissioner-berry-o39ferall-meets-siddharth-nath-discusses-economic-strategy
australian-high-commissioner-berry-o39ferall-meets-siddharth-nath-discusses-economic-strategy
उत्तर-प्रदेश

सिद्धार्थ नाथ से आस्ट्रेलिया के उच्चायुक्त बेरी ओ फेरल ने की भेंट, इकानाॅमिक स्ट्रेटजी पर चर्चा

news

-आपसी व्यापार को बढ़ाकर तैयार किया जाएगा इकोनाॅमिक माडल-उच्चायुक्त -उप्र से आस्ट्रेलिया में लेदर, कारपेट, टेक्सटाइल्स, फुटवियर के आयात की अपार सम्भानाएं-सिद्धार्थ नाथ लखनऊ, 25 फरवरी (हि.स.)। प्रदेश के सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम, निवेश तथा निर्यात प्रोत्साहन मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह से गुरुवार को खादी भवन में आस्ट्रेलिया के उच्चायुक्त बेरी ओ फेरल ने भेंट की और उत्तर प्रदेश तथा आस्ट्रेलिया के बीच इकानाॅमिक स्ट्रेटजी पर चर्चा की। उन्होंने कहा कि इन्वेस्ट यूपी और आस्ट्रेड के सहयोग से दोनों देशों के आपसी व्यापार को बढ़ाकर इकोनाॅमिक मॉडल तैयार किया जा सकता है। उन्होंने प्रदेश में निवेश के लिए आस्ट्रेलिया के पेंशन फण्ड का उपयोग करने पर भी विचार-विमर्श किया। साथ ही विश्वसनीय सहयोगी के रूप में कार्य करने की इच्छा प्रकट की। श्री सिंह ने उच्चायुक्त के प्रस्ताव का स्वागत करते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश और आस्ट्रेलिया के मध्य बहुत पुराने सम्बन्ध हैं। उत्तर प्रदेश सरकार आस्ट्रेलिया के निवेशकों को हर सम्भव सहयोग व मदद देगी। उन्होंने कहा कि आस्ट्रेलिया द्वारा प्रति वर्ष 50 बिलियन डालर का आयात चीन से किया जाता है। उत्तर प्रदेश से भी लेदर, कारपेट, टेक्सटाइल्स, फुटवियर आदि उत्पादों का आयात की अपार सम्भानाएं है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश माइनिंग, पशुपालन, अपैरल, हैण्डलूम एण्ड टेक्सटाइल्स के क्षेत्र में निवेश का प्रमुख गन्तव्य है। श्री सिंह ने उच्चायुक्त को एक जिला-एक उत्पाद (ओडीओपी) कार्यक्रम के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि ओडीओपी के तहत स्थानीय प्रसिद्ध उत्पादों को बढ़ावा देकर ग्रामीण अर्थव्यवस्था को सुदृढ़ करने का कार्य किया जा रहा है। प्रदेश को 03 ट्रिलियन इकोनाॅमी बनाने में इस कार्यक्रम की अहम भूमिका होगी। प्रदेश में ईज ऑफ डूईंग बिजनेस के साथ ईंज ऑफ लिविंग पर भी विशेष बल दिया गया है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश का घरेलू बाजार बहुत बड़ा है। यहां पर लगभग 90 लाख एमएसएमई है। राज्य सरकार प्रत्येक क्षेत्र के उत्पादों की गुणवत्ता, मार्केटिंग आदि पर विशेष फोकस कर रही है। श्री सिंह ने कहा कि प्रदेश में वस्त्रोद्योग को बढ़ावा देने के लिए बड़े टेक्सटाइल्स पार्क की स्थापना की दिशा में तेजी से कार्यवाही चल रही है। यूपी में लारजेस्ट एअर ऐण्ड रोड कनेक्टीविटी उद्यमियों के लिए आकर्षण का केन्द्र है। उन्होंने उत्तर प्रदेश देश में दूसरा सबसे बड़ा उत्पादक प्रदेश है। इसके साथ ही एग्रो बेस्ड उत्पादों के प्रोडक्शन में भी उत्तर प्रदेश अग्रणी है। उन्होंने उच्चायुक्त को निवेश मित्र सिंगल विन्डो सिस्टम, सेक्टोरियल पाॅलिसी आदि की विस्तार से जानकारी दी। हिन्दुस्थान समाचार/संजय/दीपक