मजदूरों केे बच्चों के लिए मण्डल मुख्यालयों पर अटल आवासीय विद्यालय: श्रममंत्री

मजदूरों केे बच्चों के लिए मण्डल मुख्यालयों पर अटल आवासीय विद्यालय: श्रममंत्री
atal-residential-school-for-children-of-laborers-at-board-headquarters-labor-minister

नवोदय विद्यालयों की तरह गुणवत्तापरक शिक्षा प्रदान की जायेगी बांदा,24 मार्च (हि.स.)। मजदूरों केे बच्चों को अच्छी शिक्षा प्रदान करने के लिए प्रदेश सरकार द्वारा प्रदेश के सभी मण्डल मुख्यालयों पर अटल आवासीय विद्यालय खोले जा रहे हैं। इन विद्यालयों में मजदूरों के बच्चों को नवोदय विद्यालयों के समान सुविधायें प्रदान करते हुए गुणवत्तापरक शिक्षा प्रदान की जायेगी। उपरोक्त विचार श्रम विभाग द्वारा स्थानीय राजकीय इण्टर काॅलेज के प्रांगण में आयोजित मण्डलीय पंजीयन शिविर, हितलाभ वितरण एवं जागरूकता कार्यक्र्रम में श्रमिकों को सम्बोधित करते हुए उ.प्र. श्रम, सेवायोजन एवं समन्वय विभाग के मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य ने व्यक्त किये। उन्होंने श्रम विभाग द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं केे अन्तर्गत 3660 लाभार्थियों को 12 करोड़, 65 लाख, 83 हजार रू0 की धनराशि श्रमिकों को प्रदान की और उन्हें हितलाभ सम्बन्धी प्रमाण पत्र वितरित किये। मातृत्व शिशु एवं बालिका मदद योजना के अन्तर्गत 2555 लाभार्थियों को 11 करोड़ 4 लाख 42 हजार रूपये, निर्माण कामगार मृत्यु, विकलांगता सहायता एवं अक्षमता पेंशन योजना व निर्माण कामगार अन्त्येष्टि सहायता योजना के अन्तर्गत 18 लाभार्थियों को 36 लाख 60 हजार रू., कन्या विवाह सहायता योजना के अन्तर्गत 166 लाभार्थियों को 91 लाख 30 हजार रू., चिकित्सा सुविधा योजना के अन्तर्गत 819 लाभार्थियों को 27 लाख 25 हजार, संत रविदास शिक्षा सहायता योजना के अन्तर्गत 100 लाभार्थियों को 6 लाख 21 हजार रू. की साइकिल सहायताध्छात्रवृत्ति तथा 2 मेधावी छात्रों को 4 हजार रूपये की सहायता प्रदान की। श्रम मंत्री ने कहा कि हमारे देश के प्रधानमंत्री मोदी, मुख्यमंत्री योगी का यह संकल्प है कि सबका साथ और सबका विकास हो। इसी संकल्पना को मूर्त रूप प्रदान करने के लिए श्रम विभाग द्वारा विभिन्न योजनायें संचालित की जा रही हैं। उन्होंने श्रमिकों से अपील की कि वे श्रम विभाग मेें अपना पंजीयन अवश्य करायें क्योंकि पंजीयन के उपरान्त ही उन्हें श्रम विभाग की योजनाओं का लाभ प्राप्त हो सकता है। मौर्य ने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा श्रमिकोें के पंजीयन की निःशुल्क व्यवस्था की गयी है। आप श्रम विभाग द्वारा लगाये गये कैम्पों तथा काॅमन सर्विस सेन्टर के माध्यम से अपना पंजीयन करा सकते हैं। श्रम मंत्री ने मजदूरों से अपील की कि वे अपने बच्चों को शिक्षा अवश्य दिलायें, जिससे वे प्रशासनिक अधिकारी, डाॅक्टर व इंजीनियर बन सकें। उन्होंने श्रमिकों के कल्याणार्थ सरकार द्वारा चलायी जा रही योजनाओं की जानकारी दी। उन्होंने श्रम हितलाभ सहायता वितरण कार्यक्रम के पूर्व सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग द्वारा लगायी गयी प्रदर्शनी-‘‘दशकों में जो हो न पाया, चार वर्ष में कर दिखाया’’ का फीता काटकर उद्घाटन किया। मौर्य ने सब मिशन आन एग्रीकल्चर मेकेनाइजेशन योजना के अन्तर्गत चार लाभार्थियों को ट्रैक्टर तथा एक लाभार्थी को मिनी राइस मिल प्रदान की। विधायक चन्द्रपाल कुशवाहा ने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा श्रमिकों के कल्याण के लिए कई योजनायें चलायी जा रही हैं, जिससे श्रमिक परिवार आगे बढ सकें। विधायक राजकरन कबीर ने कहा कि श्रम विभाग द्वारा श्रमिकों में जागरूकता लाने के लिए यह बहुत ही सराहनीय कार्यक्रम किया गया है। विधायक तिन्दवारी बृजेश कुमार प्रजापति ने कहा कि मुख्यमंत्री तथा मंत्री के आर्शीवाद से श्रमिकों को योजनाओं का लाभ प्राप्त हो रहा है। उन्होंने कहा कि श्रमिक इन योजनाओं की जानकारी अपने अन्य साथियों को भी दें जिससे वे भी लाभ प्राप्त कर सकें। जिलाधिकारी आनन्द कुमार सिंह ने कहा कि वर्ष 2020-21 में जनपद बांदा में 26941 श्रमिकों का पंजीकरण हुआ है। उपाध्यक्ष बुन्देलखण्ड विकास बोर्ड अयोध्या सिंह पटेल, भाजपा जिलाध्यक्ष रामकेश निषाद, पूर्व जिलाध्यक्ष लवलेश सिंह, भाजपा महिला मोर्चा की अध्यक्ष वन्दना गुप्ता ने अपने-अपने विचार व्यक्त किये। कार्यक्रम के अन्त में मुख्य विकास अधिकारी हरिश्चन्द्र वर्मा ने आभार व्यक्त किया। हिन्दुस्थान समाचार/अनिल

अन्य खबरें

No stories found.