कोरोना से पराजित हो गए समाजवादी अरूण कुमार दुबे
कोरोना से पराजित हो गए समाजवादी अरूण कुमार दुबे
उत्तर-प्रदेश

कोरोना से पराजित हो गए समाजवादी अरूण कुमार दुबे

news

मीरजापुर, 01 अगस्त (हि.स.)। खाटी समाजवादी पूर्व पालिकाध्यक्ष व लोकतंत्र सेनानी अरूण कुमार दुबे आखिरकार कोरोना से पराजित हो गए। अपने अक्खड़पन के चलते कई बार जेल की यात्रा भी की थी। जेपी आंदोलन में भी उन्होंने जिले में समाजवाद का झण्डा बुलंद किए रखा और लगभग 32 माह जेल में ही रहे। जिले की राजनीति में अरूण कुमार दुबे की अलग साख थी। उन्होने कभी भी अपने सिंद्धातों से समझौता नहीं किया। यही वजह रही कि वर्तमान राजनैतिक परिदृश्य में अपने को नहीं ढाल पाए। अरूण कुमार दुबे खाटी समाजवादी व पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर के भी करीबी थे। जिले में जब भी चंद्रशेखर भ्रमण के लिए आते थे तो पूर्व पालिकाध्यक्ष से मुलाकात किए बगैर वापस नहीं लौटते थे। यही नहीं समाजवादी नेता जार्ज फर्नाडीज, मधु लिमए, पूर्व लोकसभा अध्यक्ष रवि राय, शरद यादव, मुलायम सिंह यादव जैसे नेताओं से भी अरूण कुमार दुबे का सम्बंध रहा। जेपी आंदोलन में इन नेताओं के साथ अरूण कुमार दुबे भी संघर्षरत रहे। सूबे में सपा की जब सरकार बनी तो मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव ने मीसा बंदियों को लोकतंत्र सेनानी का दर्जा दे दिया। अरूण दूबे के निधन पर जिले के लोगों ने शोक जताया है। अनुप्रिया पटेल ने कहा कि जिले ने एक बेहतर नेता खो दिया। उर्जा राज्यमंत्री रमाशंकर पटेल ने कहा अरूण कुमार दुबे के निधन से अपूर्णनीय क्षति हुई है। शोक जताने वालों में भाजपा के पूर्व अध्यक्ष गंगा सागर दुबे, बालेंदुमणि त्रिपाठी, पूर्व जिला उपाध्यक्ष प्रदीप सोनकर, विनोद शंकर पाण्डेय आदि शामिल है। हिन्दुस्थान समाचार/गिरजा शंकर/विद्या कान्त-hindusthansamachar.in