artificial-intelligence-is-a-fast-moving-technology-prof-nagabhushan
artificial-intelligence-is-a-fast-moving-technology-prof-nagabhushan
उत्तर-प्रदेश

कृत्रिम बुद्धिमत्ता तेजी से आगे बढ़ने वाली तकनीक : प्रो नागभूषण

news

प्रयागराज, 01 फरवरी (हि.स.)। कृत्रिम बुद्धिमत्ता (आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस) एक तेजी से आगे बढ़ने वाली तकनीक है, जो जल्द ही हमारे रोजमर्रा के जीवन पर महत्वपूर्ण प्रभाव डाल सकती है। उक्त विचार ट्रिपल आईटी के निदेशक प्रोफेसर पी नागभूषण ने आईटी विभाग द्वारा “मशीन लर्निंग एंड ऑप्टिमाइजेशन” पर पांच दिवसीय ऑनलाइन संकाय विकास कार्यक्रम (एफडीपी) का उद्घाटन करते हुए झलवा परिसर में सोमवार को व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि मशीन लर्निंग मानव-जैसी बुद्धि के एक कृत्रिम निर्माण को संदर्भित करता है जो प्राकृतिक भाषा के साथ योजना, अनुभव या प्रक्रिया कर सकता है। उन्होंने इस प्रक्रिया में सीखने की क्षमता, समझ और आजीवन सीखने और मुद्दों के महत्व का उल्लेख किया। कार्यवाहक कुलसचिव डॉ. विजयश्री तिवारी ने कहा कि एफडीपी का उद्देश्य मशीन लर्निंग की अवधारणाओं, अपनी कला की अवस्था, चुनौतियों और आगे के भविष्य सहित अनुकूलन को पेश करना है। समन्वयक डॉ. कृष्ण प्रताप सिंह ने बताया कि इस कार्यक्रम में प्रतिष्ठित संस्थानों जैसे आईआईटी, ट्रिपल आईटी, एनआईटी आदि के कई विशेषज्ञ इसमें भाग ले रहे थे। इस कार्यशाला सम्पूर्ण देश से लगभग 200 प्रतिभागी शामिल हो रहे हैं। डॉ. पवन चक्रवर्ती, सूचना प्रौद्योगिकी विभाग के प्रमुख और डीन मानव मामलों के प्रो.शेखर वर्मा ने इस अवसर पर सीखने और अनुकूलन पर अपने विचार साझा किए। हिन्दुस्थान समाचार/विद्या कान्त-hindusthansamachar.in