किसानों की बर्बादी का कारण बनेंगे तीनों कृषि कानून: राजेंद्र सिंह

किसानों की बर्बादी का कारण बनेंगे तीनों कृषि कानून: राजेंद्र सिंह
all-three-agricultural-laws-will-cause-farmers-to-waste-rajendra-singh

बागपत, 24 मार्च (हि.स.)। सामाजिक कार्यकर्ता जल पुरुष राजेंद्र सिंह ने कहा कि केंद्र सरकार के तीनों कृषि कानून किसानों की बर्बादी का कारण बनेंगे। इन कानूनों के सहारे केंद्र सरकार ईस्ट इंडिया कंपनी की तर्ज पर देश को गुलामी की ओर ले जाना चाहती है। दोघट क्षेत्र के निरपुड़ा गांव में बुधवार को प्रेस वार्ता में राजेंद्र सिंह ने कहा कि चैधरी चरण सिंह ने जमींदारी से छुटकारा दिलाया था। आज सरकार कृषि कानून लागू कर फिर उसी दिशा में ले जा रही है। सरकार के तीनों कृषि कानून किसान की बर्बादी का कारण बनेंगे। दिल्ली बॉर्डर पर तीन माह से अधिक समय से धरने पर बैठे किसानों की सरकार सुध नहीं ले रही है। जबकि करीब 300 किसानों की धरने पर मौत हो चुकी है। हम सभी किसानों के साथ है। राजेंद्र सिंह ने कहा कि सरकार का ध्यान नदियों के जल को स्वच्छ कराना एवं बचाने पर नहीं है। चुनाव से पहले गंगा को निर्मल बनाने का ढोल पीटने वाले ही अब चुप्पी साधे हुए है। हिंडन, कृष्णा एवं काली आदि नदियां का अस्तित्व ही समाप्त होता जा रहा है। नदियों का जो पानी किसानों की फसलों की सिंचाई के लिए माना जाता था, उसी पानी पर उधोगपति अपना हक जमाकर उसमें फैक्ट्रियों का गंदा एवं जहरीला पानी छोड़ रहे है। एनजीटी एवं न्यायालय के आदेशों की भी अवहेलना की जा रही है। नदियों का प्रदूषित पानी आसपास के सैंकड़ो गांवों में बीमारियां परोस रहा है। इसके लिए जनता को भी जागरूक होने की जरूरत है। नदियों को बचाने के लिए समाज को भी आगे आना होगा। इस मौके पर रमेश शर्मा, संजय राणा आदि मौजूद रहे। हिन्दुस्थान समाचार/गौरव

अन्य खबरें

No stories found.