वृंदावन कुम्भ मेला की सभी तैयारियां 10 फरवरी तक हो पूरी, सीएम योगी 14 फरवरी को आयेंगे वृंदावन : श्रीकान्त शर्मा

वृंदावन कुम्भ मेला की सभी तैयारियां 10 फरवरी तक हो पूरी, सीएम योगी 14 फरवरी को आयेंगे वृंदावन : श्रीकान्त शर्मा
all-preparations-for-vrindavan-kumbh-mela-should-be-completed-by-february-10-cm-yogi-will-come-to-vrindavan-on-february-14-shrikant-sharma

-कुम्भ मेला को भव्य, दिव्य व ईको फ्रेंडली बनाने के लिए हरसम्भव प्रयास प्रधानमंत्री का किसानों को आर्थिक स्वावलंबी बनाने का है प्रयास, राजनीति कर हिंसा भड़काने वाले किसी सूरत में नहीं होंगे बर्दाश्त: श्रीकांत शर्मा मथुरा, 30 जनवरी(हि.स.)। उत्तर प्रदेश के ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने शनिवार को वृंदावन में लगने वाले कुंभ मेला की तैयारियों का जायजा लिया। कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ 14 फरवरी को वृंदावन आयेंगे, उनके आने के पहले यानी 10 फरवरी तक कुंभ मेले की सभी तैयारियों को पूरा कर लिया जाय। यह निर्देश वे अधीनस्थ अधिकारियों को दिए है। उन्होंने यमुना किनारे पक्के घाटों के निर्माण कार्य का निरीक्षण किया। जल निगम के कार्यों में खामियां मिलने पर उन्होंने नाराजगी जताई। निरीक्षण के बाद ऊर्जा मंत्री ने डीएम सहित प्रशासनिक अधिकारियों के साथ कुंभ मेला क्षेत्र में बैठक की। जिसमें सन्त, धर्माचार्य एवं निगम पार्षद आदि भी मौजूद रहे। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी किसानों को आर्थिक स्वावलंबी बनाने का प्रयास कर रहे हैं। लेकिन कुछ ऐसे दल जिनका अस्तित्व खतरे में है वो राजनीति कर रहे हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि हिंसा किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं की जाएगी। वृंदावन धर्म नगरी वृंदावन में 16 फरवरी से आयोजित कुम्भ मेला को भव्य और दिव्य बनाने के लिए शासन-प्रशासन द्वारा हरसंभव प्रयास किए जा रहे हैं। वहीं 14 फरवरी को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आगमन के प्रस्तावित कार्यक्रम को लेकर प्रदेश के ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा शनिवार को कुम्भ मेला की तैयारियों का जायजा लेने के लिए कुम्भ स्थल पर पहुंचे। जहां उन्होंने मेला क्षेत्र में तैयारियों एवं घाट निर्माण कार्य का निरीक्षण किया। जहां जल निगम के कार्यों में कमी पाए जाने पर उन्होंने नाराजगी जताई। इसके साथ ही ऊर्जा मंत्री ने डीएम नवनीत सिंह चहल एवं संबंधित विभागों के अधिकारियों के साथ बैठक भी की। जिसमें सन्त, धर्माचार्य व पार्षद आदि भी मौजूद रहे। बैठक में ऊर्जा मंत्री ने कुम्भ मेला को लेकर अधिकारियों से कार्यों की जानकारी ली। वहीं उन्हें निर्देश दिए कि 10 फरवरी तक सभी कार्य पूरे कर लिए जाएं। ऊर्जा मंत्री ने बताया कि कुम्भ मेला को भव्य, दिव्य व ईको फ्रेंडली बनाने के लिए हरसम्भव प्रयास किए जा रहे हैं। साथ ही बताया कि यमुना में नालों के गंदे पानी की एक बूंद भी ना जाने पाए इसके लिए अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं। हिन्दुस्थान समाचार/महेश-hindusthansamachar.in