akhilesh-yadav-told-chief-minister-yogi-39outsider39-said-the-need-for-a-new-government-in-up
akhilesh-yadav-told-chief-minister-yogi-39outsider39-said-the-need-for-a-new-government-in-up
उत्तर-प्रदेश

अखिलेश यादव ने मुख्यमंत्री योगी को बताया 'बाहरी', कहा उप्र में नई सरकार की जरूरत

news

- पेट्रोल-डीजल की मूल्य वृद्धि को लेकर किया तंज, कहा गरीब सोच रहा, बचाएं क्या और खाएं क्या लखनऊ, 20 फरवरी (हि.स.)। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को बाहरी बताते हुए निशाना साधा है। वहीं उत्तर प्रदेश में नई सरकार की जरूरत बतायी है। उन्होंने पेट्रोल डीजल की मूल्य वृद्धि को लेकर तंज कसते हुए कहा कि इन हालातों में गरीब सोचने पर विवश है कि बचाएं क्या और खाएं क्या। अखिलेश यादव शनिवार को पार्टी के प्रदेश मुख्यालय में आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि भाजपा ने उत्तर प्रदेश की जनता को बाहरी मुख्यमंत्री थोप दिया है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री तो उत्तर प्रदेश के नहीं हैं। यहां पर योगी आदित्यनाथ तो दूसरे प्रदेश से आए हैं। अगर वह वाकई में योगी हैं तो सच सभी को बताएं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को उत्तर प्रदेश के बारे में कम जानकारी है। इसी वजह से सपा सरकार के कार्यकाल के काम को अपना बताते रहते हैं। सदन में उनकी भाषा मुख्यमंत्री वाली नहीं है। वह विकास पर कम बोलते हैं। सपा अध्यक्ष ने कहा कि उत्तर प्रदेश में नई सरकार की जरूरत है क्योंकि सरकार ने जनता को निराश किया है। किसान अपनी बात उनके पास लेकर आए होंगे तो उन्होंने किसानों का अपमान कर दिया। इतना अपमान का सामना कभी जनता ने नहीं किया होगा जितना भाजपा की सरकार में हो रहा है। उन्होंने कहा कि जिस समय पेट्रोल-डीजल महंगा हो जाता है, उसी समय महंगाई बढ़ जाती है। महंगाई बढ़ाकर इन्होंने पूरे मध्यम वर्ग, गरीब, किसान,नौजवान सबके ऊपर भार डाला है। भाजपा ने इतनी महंगाई कर दी कि गरीब ये सोच रहा है कि हम बचाएं क्या, खाएं क्या? और वो तर्क दे रहे हैं कि इससे देश बनेगा। अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा की सरकार में किसान और नौजवान सभी परेशान हैं और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सदन में खड़े होकर झूठ बोल रहे हैं। वह कहते हैं कि सपा सरकार चीनी मिलों को बेच देना चाहती थी जबकि ऐसा नहीं था। उन्होंने कहा कि इस सरकार ने झूठ कहा कि गन्ना किसानों का भुगतान सबसे ज्यादा भाजपा सरकार में हुआ। ये भी दावा गलत है। उन्हें इसके सबूत देना चाहिए। उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार ने अर्थव्यवस्था बर्बाद कर दी। लोगों की नौकरियां चली गईं और ये तीनों कृषि कानून इसलिए लाए गए हैं जिससे कि कृषि पर भी कुछ उद्योग घरानों का नियंत्रण स्थापित हो जाए। सपा अध्यक्ष ने सरकार पर बदले की भावना से काम करने का आरोप लगाया और कहा कि अपराधियों के नाम पर उनके घर के लोगों को परेशान किया जा रहा है। उनके घरों को अवैध बताकर गिराया जा रहा है। सरकार अपने लोगों के नक्शे की जांच करे, अधिकांश का निर्माण अवैध ही मिलेगा। अखिलेश यादव ने कहा कि प्रदेश में छात्र-छात्राओं के हाथ में लैपटॉप देखकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को काफी बुरा लगता है। लॉकडाउन में मोबाइल व लैपटॉप से ही पढ़ाई हुई है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में हमने जहां भी मेट्रो रेल चलवाई, अभी भी वहीं तक सीमित है। मुख्यमंत्री के गोरखपुर में मेट्रो नहीं चल पाई। इस मौके पर सपा अध्यक्ष ने पार्टी में आज शामिल हुए नए लोगों का स्वागत करते हुए कहा कि, लगातार लोग सपा से जुड़ रहे हैं। इनमें सभी समाज के लोग शामिल हैं। हिन्दुस्थान समाचार/संजय/मोहित

AD
AD