कानपुर के अस्पतालों को मिले पर्याप्त आक्सीजन, बेड़ों की बढ़ाई जाए संख्या : केशव मौर्य

कानपुर के अस्पतालों को मिले पर्याप्त आक्सीजन, बेड़ों की बढ़ाई जाए संख्या : केशव मौर्य
adequate-oxygen-to-hospitals-in-kanpur-number-of-fleets-to-be-increased-keshav-maurya

— जनता की समस्याओं को अधिकारियों तक पहुंचाकर निस्तारण कराएं जनप्रतिनिधि कानपुर, 29 अप्रैल (हि.स.)। वैश्विक महामारी कोरोना की दूसरी स्ट्रेन लोगों के बीच तेजी से पांव पसार रही है। ऐसे में कानपुर के अस्पतालों में आक्सीजन पर्याप्त मात्रा में होनी चाहिये साथ ही बेड़ों की संख्या भी बढ़ाई जाये। यही नहीं कोरोना जांच का दायरा बढ़ाया जाये और बड़े पैमाने पर सफाई के साथ सेनेटाइजेशन का कार्य कराया जाए। इसके साथ ही अस्पतालों में लगाए गए मजिस्ट्रेट व नोडल अधिकारियों को और अधिक सक्रिय किया जाए तथा वह अपना मोबाइल नंबर हमेशा खुला रखें। यह बातें गुरुवार को कानपुर के प्रभारी मंत्री और उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कानपुर के जनप्रतिनिधियों के साथ हुई वर्चुअल बैठक में कही। उन्होंने कहा कि ऑक्सीजन की आपूर्ति में कमी नहीं होनी चाहिए, अस्पताल में बेडों की उपलब्धता बढ़ाई जाए और जांच का दायरा बढ़ाया जाए। विधायकों, सांसदों, प्रमुख जनप्रतिनिधियों तथा जिले के वरिष्ठ अधिकारियों का एक व्हाट्सएप ग्रुप बनाया जाए और उस ग्रुप में जहां से कोई शिकायत आती है, उसका संबंधित अधिकारी तत्काल निराकरण करना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि दवाओं व अन्य आवश्यक वस्तुओं आदि की कालाबाजारी किसी भी कीमत पर नहीं होनी चाहिए, इस पर पैनी नजर रखी जाए। घाटमपुर में दो सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र हैं उन्हें भी कोविड अस्पताल में तब्दील किया जाये। कहा कि एक मई से 18 साल से ऊपर के लोगों को होने वाले टीकाकरण के लिए नोडल अधिकारी नामित करते हुए उसकी मानिटरिंग कराई जाए और देखा जाए कि अनावश्यक रूप से कहीं पर ज्यादा भीड़ न लगने पाए। उन्होंने निर्देश दिए कि नाइट कर्फ्यू व लॉकडाउन के नियमों को शासन के निर्देशानुसार पालन सुनिश्चित किया जाए।वैश्विक महामारी के दौरान सभी के सक्रिय और सजग रहने की प्रबल आवश्यकता है ।हम सभी लोग अपने दायित्वों का निर्वहन पूरी निष्ठा के साथ करें। उपमुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि उच्च जोखिम के मामलों में विशिष्ट निगरानी रखी जाए। ऑक्सीजन एवं अन्य संबंधित वस्तुएं, दवाएं आदि की उपलब्धता में एक समन्वय स्थापित किया जाए। परीक्षण तंत्र पर व्यापक महत्व दिया जाए। एक सकारात्मक वातावरण बनाया जाए। भ्रामक सूचनाएं या डर को नजरअंदाज करने के लिए आवश्यक कदम उठाए जाएं। वर्चुवल मीटिग के दौरान कानपुर नगर के सांसद, विधायक, वरिष्ठ जनप्रतिनिधियों के अलावा कमिश्नर डा. राजशेखर, जिलाधिकारी आलोक तिवारी पुलिस कमिश्नर असीम अरुण, नगर आयुक्त, मुख्य चिकित्सा अधिकारी आदि मौजूद रहें। हिन्दुस्थान समाचार/अजय