action-on-secretary-bdo-je-in-rigging-construction-works
action-on-secretary-bdo-je-in-rigging-construction-works
उत्तर-प्रदेश

निर्माण कार्यों की धांधली में सचिव, बीडीओ, जेई पर कार्रवाई

news

प्रधान के खिलाफ कार्रवाई, डीएम ने निर्माण कार्य को किया श्रमदान घोषित हमीरपुर, 18 फरवरी (हि.स.)। मुस्करा ब्लाक के उमरी गांव में स्वीकृत स्थान के बजाय दूसरी जगह लाखों रुपये की लागत से सीसी रोड का निर्माण कार्य कराये जाने पर गुरुवार को जिलाधिकारी ने पूरे निर्माण कार्य को श्रमदान घोषित कर सचिव, अवर अभियंता, बीडीओ और तत्कालीन प्रधान के खिलाफ कार्यवाही करने का आदेश दिया है। लघु सिंचाई के सहायक अभियंता व तहसीलदार मौदहा की संयुक्त जांच कमेटी गठित कर निर्माण कार्यों की जांच करायी गयी जिसमें बड़ी अनियमिततायें पायी गयी। जांच में पाया गया कि उमरी गांव में गुरुदीन के मकान से मुन्ना केवट के मकान तक सीसी रोड का निर्माण कार्य वित्तीय वर्ष 2020-21 में स्वीकृत था। इस कार्य को दूसरी जगह गुरुदीन के मकान से भैयादीन के मकान तक कराया गया। वहीं आईजीआरएस में मिली शिकायत को गलत ढंग से निस्तारित कर रिपोर्ट दे दी गयी। जिलाधिकारी ज्ञानेश्वर त्रिपाठी ने जांच रिपोर्ट के आधार पर पाया कि उक्त निर्माण कार्य योजना में स्वीकृत नहीं होने के कारण नियम विरुद्ध था। स्वीकृत निर्माण कार्य में नियम विरुद्ध व्यावर्तन करने के कारण डीएम ने उक्त कार्य को श्रमदान घोषित करने का निर्देश दिया। इसके साथ ही आईजीआरएस संदर्भ के निस्तारण में पोर्टल पर भ्रामक रिपोर्ट अपलोड किए जाने के लिए ग्राम सचिव, जेई आरईएस एवं खंड विकास अधिकारी मुस्करा पर कार्यवाही प्रस्तावित करने का निर्देश मुख्य विकास अधिकारी को दिया है। कहा है तत्कालीन प्रधान, जेई आरईएस एवं ग्राम सचिव द्वारा कार्य योजना स्वीकृत कार्य का निर्माण एक सप्ताह में पूर्ण कराया जाए। उन्होंने कहा कि यदि निर्धारित अवधि में कार्य पूर्ण नहीं किया जाता तो सम्पूर्ण धनराशि की वसूली समानुपातिक रूप से करते हुए उनके विरुद्ध विधिक विभागीय कार्रवाई सुनिश्चित की जाए। हिन्दुस्थान समाचार/पंकज/विद्या कान्त-hindusthansamachar.in